अगर कोहली नाकाम हुए तो क्या करेगी टीम इंडिया?

टीम इंडिया अगर इस बार सेमीफाइनल खेल रही है तो इसका श्रेय सिर्फ और सिर्फ विराट कोहली को दिया जा सकता है, क्योंकि यही वो बल्लेबाज है जिसने अकेले अपने दम पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ निर्णायक जंग में करिश्माई पारी खेलकर टीम को अंतिम-चार में पहुंचाया।

मेजबान टीम जब अपने शुरुआती मैच में न्यूजीलैंड से हार गई थी तो उस समय उसके आगे के सफर पर सवाल उठने लगे, लेकिन टीम की ‘रन मशीन’ कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ मैच में अविजित अर्धशतकीय (55) पारी खेलकर भारत को जीत दिलाने के साथ-साथ उम्मीद की किरण भी जगा दी। फिर अंतिम मैच में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध 82 रनों की पारी ने तो कमाल ही कर दिया क्योंकि इस पारी ने टीम को नायाब जीत दिलाई और भारत सेमीफाइनल में पहुंच गया। बांग्लादेश के खिलाफ लो स्कोरिंग मैच में भी उन्होंने 24 रनों की पारी खेली थी।

कोहली बिना रुके रन बना रहे हैं ज्यों-ज्यों लेवल बढ़ता जा रहा है इस बल्लेबाज से उम्मीदें भी बढ़ती जा रही है। इस साल की बात करें तो उन्होंने 12 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें 11 बार बल्लेबाजी करने का मौका मिला और उन्होंने 536 रन बनाए हैं। साथ ही इन 11 मौकों पर 6 फिफ्टी लगाई और 2 बार 40 से ज्यादा का स्कोर किया। इस दौरान वह हर मैच में 20 से ज्यादा रन बनाने में कामयाब भी रहे।

ऐसा नहीं है कि जो बल्लेबाज आज जोरदार फॉर्म में चल रहा है वो अगले मुकाबले में भी मैच जीताऊ पारी खेले। अगर टीम इंडिया की ‘रन मशीन’ कोहली विस्फोटक बल्लेबाजों से लबरेज कैरेबियाई टीम के सामने सेमीफाइनल मैच में बल्ले से नाकाम हो जाते हैं तो इस परिस्थिति में टीम इंडिया को क्या करना होगा और किस तरह से इस बड़े संकट से उबरने की योजना बनानी होगी?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *