कासगंज: मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना हेतु 10 जनवरी तक करें आवेदन-डीएम

कासगंज…………
01 करोड़, 66 लाख, 60 हजार रू0 से कराई जायेगी 476 गरीब बेटियों की शादी। मिलेगी 35 हजार रू0 की सहायता। दुल्हन को उपहार में कपड़े, बर्तन, पायल, बिछिया सहित मिलेगा मोबाइल।
जिलाधिकारी आर0पी0सिंह ने बताया कि अनु0जाति, जनजाति, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक व सामान्य वर्ग के गरीब व्यक्तियों की पुत्रियों की शादी हेतु संचालित मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के अंतर्गत गरीबी रेखा के नीचे जीवनयापन करने वाले जरूरतमंद, निराश्रित, निर्धन परिवारों की विवाह योग्य कन्याओं, विधवा, परित्यक्ता, तलाकषुदा महिलाओं का विवाह उनकी सामाजिक, धार्मिक मान्यता एवं रीति रिवाज के अनुसार सम्पन्न कराया जायेगा। वर व कन्या के परिवार से कोई भी पंजीयन शुल्क या दान नहीं लिया जायेगा, विवाह निःषुल्क होगा। आवेदन करने की अंतिम तिथि 10 जनवरी 2018 है।
         इच्छुक लोग पंजीयन हेतु निर्धारित आॅफ लाइन आवेदन पत्र ग्रामीण क्षेत्र में जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत-ब्लाक कार्यालय, तथा शहरी क्षेत्र में नगर पालिका परिषद, नगर पंचायत कार्यालय में आवष्यक अभिलेखों के साथ जमा करा सकते हैं। जनपद कासगंज में कुल 476 पात्रों को लाभांवित करने का लक्ष्य है, जिस पर 01 करोड़, 66 लाख, 60 हजार रू0 व्यय होंगे। प्रथम चरण में 100 जोड़ो का विवाह कराया जायेगा।
       कन्या एवं वर को विवाह हेतु आॅफ लाइन आवेदन करना होगा। पंजीयन हेतु वर एवं कन्या को दो-दो फोटो अलग से देने होंगे। कन्या के अभिभावक उ0प्र0 के मूल निवासी तथा निर्धन, निराश्रित एवं जरूरतमंद हों। पुत्री की आयु 18 वर्ष तथा वर की आयु 21 वर्ष से कम न हो। निराश्रित कन्या, विधवा महिला की पुत्री, दिव्यांगजन अभिभावकों की पुत्री, दिव्यांग पुत्री को प्राथमिकता दी जायेगी।
       कन्या के दाम्पत्य जीवन में खुषहाली एवं गृहस्थी की स्थापना हेतु 20 हजार रू0 की सहायता राषि कन्या के खाते में जमा करा दी जायेगी। विधवा परित्यक्ता, तलाकषुदा होने पर  सहायता राषि 25 हजार रू0 होगी। विवाह संस्कार के लिये आवष्यक सामग्री कपड़े, सात बर्तन, चाॅदी की पायल, बिछिया व कन्या को 3000 रू0 तक का मोबाइल विवाह में उपहार स्वरूप दिया जायेगा, इस पर कुल 10 हजार रू0 व्यय होंगे, प्रति जोड़ा 5000/-रू0 खानपान व टेण्ड आदि पर खर्च किए जायेगें। इस प्रकार एक जोड़े पर कुल 35 हजार रू0  का व्यय भार आयेगा। निदेषालय द्वारा जिला समाज कल्याण अधिकारी को धनराषि आवंटित होगी। जिला स्तर से धनराषि का निकायों को स्थानांतरण जिलाधिकारी के अनुमोदन से किया जायेगा।
       ग्रामीण क्षेत्र में क्षेत्र पंचायत/खण्ड विकास अधिकारी/अपरमुख्य अधिकारी जिला पंचायत कार्यालय परिसर तथा शहरी क्षेत्र में अधिषासी अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत कार्यालय से अवेदन पत्र लेकर वहीं पर जमा करने/पंजीकरण की कार्यवाही होगी। आवेदन पत्र के साथ आय सम्बंधी प्रमाण पत्र, गरीबी रेखा, निराश्रित, बीपीएल कार्ड की छाया प्रति, कन्या व वर पक्ष की एक-एक पासपोर्ट साइज फोटो, विधवा होने परं पति के मृत्यु प्रमाण पत्र की छाया प्रति, परित्यक्ता होने पर न्यायालय आदेष की छाया प्रति, कन्या के बैंकखाते की पासबुक की छाया प्रति संलग्न करना जरूरी है। आयु की पुष्टि के लिये शैक्षिक रिकार्ड, जन्म प्रमाणपत्र, मतदाता पहचानपत्र, मनरेगा जाॅबकार्ड या आधार कार्ड मान्य होंगे। अनु0जाति/जनजाति, पिछड़ा वर्ग के आवेदकों को जाति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *