कृषक उठाएं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ

बदायूँ ………… प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत प्राकृतिक जोखिमों से क्षतिपूर्ति के लिए वित्तीय सदस्यता प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान अपनी फसल का बीमा अवश्य कराएं जिससे होने वाली हानि से बच सकें।
शुक्रवार को जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव की अध्यक्षता में विकास भवन स्थित सभागार में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के सम्बंध में बैठक आयोजित की गई। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर फसल के 20 हेक्टेयर क्षेत्रफल होने की स्थिति में अधिसूचित किया जाए। बैंकर्स प्रीमियम धान, मक्का, बाजरा, जौं इनमें से जो फसल बोई है, उन्हीं में से प्रीमियम 15 से 31 जुलाई तक काटें। उन्होंने कहा कि किसान व्यक्तिगत फसल बीमा करा सकता है और उसे व्यक्तिगत लाभ नहीं दिया जाएगा। सभी किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा के लिए प्रेरित करना चाहिए, जिससे किसानों को इसका ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि स्थानीय आपदाओं में ओलाविस्ट, भूस्खलन तथा जल प्लावन एवं जल की कटाई के उपरान्त आगामी 14 दिनों में खेत में सुखाने हेतु रखी गई कटी हुई फसल को बेमौसम प्राकृतिक आपदा से क्षति का आंकलन व्यक्तिगत बीमा फसल के उत्पादक कृषक के स्तर पर किया जाएगा। यदि नोडल बैंक कमीशन के कारण किसान फसल बीमा योजना के लाभ से वंचित रहता है तो योजना के प्रावधान अनुसार सम्बंधित संस्थाएं ही कृषकों की ऐसी हानियों की भरपाई सुनिश्चित करेंगी। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शेषमणि पाण्डेय, जिला कृषि अधिकारी विनोद कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *