छठे दिन भी जारी रहा किसानों का धरना  ।

बदायूँ………..
27-05-2017 से किसान शुरु करेंगे उपवास।
नियुक्ति पत्र और पूर्ण मुवाबजा लिए बिना आन्दोलन खत्म नहीं करेंगे किसान।
नौकरी व पूर्ण मुआवजे की मांग को लेकर राजकीय मेडिकल कालेज बदायु के गेट पर शांति पूर्वक रातदिन  सपरिवार धरने पर बैठे किसानों का धरना छठे दिन भी जारी रहा ।
किसानों के आन्दोलन का समर्थन कर रहे भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान उ०प्र० के सहयोगी आज भी आन्दोलन स्थल पर पहुंचे।
इस अवसर पर भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान और आन्दोलनरत किसानों ने भावी रणनीति पर विचार विमर्श किया।
अपने सम्वोधन में मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड एडवोकेट ने कहा कि आन्दोलनरत किसानों द्वारा 20 मई 2017 से धरना आरम्भ किये जाने की लिखित सूचना 05 अप्रैल 2017 को महामहिम राज्यपाल महोदय माननीय मुख्यमंत्री महोदय एवं मुख्य सचिव महोदय उ०प्र० शासन को प्रेषित कर दी गयी । भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगियों द्वारा भी किसानों के समर्थन में शासन व प्रशासन को पत्र प्रेषित किए गए । किन्तु शासन प्रशासन द्वारा मांग को गम्भीरता से नहीं लिया गया । पुर्व में भी किसान कई बार आन्दोलन कर चुके हैं लेकिन झूठे आश्वासन देकर आन्दोलन स्थगित कराया जाता रहा है । इस बार किसान पूर्ण मुवाबजा और नौकरी मिलने के बाद ही आन्दोलन समाप्त करेंगे । चाहे इसके लिये उन्हें अनशन / उपवास तथा मेडिकल कालेज भूमि में हल चलाने को ही क्यों न विवश होना पड़े।
श्री राठोड ने कहा कि भूमि अधिग्रहण कानून के होते हुए भूमि के बेनामे कराकर किसानों के साथ धोखा करके भारी हानि पहुँचाई गई है तथा कानून का उल्लंघन किया गया है । एक किसान  महेश द्वारा अपनी भूमि नहीं बेचीं गई फिर भी उसकी भूमि पर भूमाफियाओ की तरह  कब्जा करके मेडिकल कालेज का निर्माण कराया जा रहा है
विकट गर्मी में किसान सपरिवार मेडिकल कालेज गेट पर रात दिन धरने पर बैठे हुए हैं।किन्तु डेढ़ माह पूर्व धरने की सूचना दिए जाने के उपरांत भी शासन/प्रशासन द्वारा किसानों की मांग को गम्भीरता से न लेना उनकी सम्वेदना हीनता को ही दर्शाता है।
  धरना स्थल पर प्रमुख रुप से अमित कुमार सिंह हरीओम भारत सिंह छोटे लाल महेन्द्र गंगाराम झम्मन लाल राजवीर अजित कैलाश प्रमोद   सोनवति राममुर्ति कन्यावति विमला देवी रामलाल रामस्वरुप नत्थुलाल आदि एवं भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान के सहयोगी धनपाल सिंह  वीरेन्द्र कुमार  जितेश एन लाल  रक्षपाल सिंह एडवोकेट  अमन मयन्क शर्मा आदि सहयोगी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *