डीएम ने की कावड़ यात्रा की तैयारियों की समीक्षा

बदायूँ………….. श्रवण मास में होने वाली कावड़ यात्रा के दौरान ध्वनि विस्तारण यन्त्रों पर विशेष नियन्त्रण रखने के लिए समाजसेवी संस्थाओं के साथ बैठक की गई।
गुरुवार को जिलाधिकारी अनिता श्रीवास्तव की अध्यक्षता में पुलिस लाइन में कानून व्यवस्था की बैठक आहूत की गई। उन्होंने कहा कि श्रवण मास में होने वाली कावड़ यात्रा को सुरक्षित एवं सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न कराने के लिए उत्तम व्यवस्था होनी चाहिए, जिससे यात्रियों को कोई परेशानी न उठानी पड़े। यह एक धार्मिक यात्रा है, जिसमें शिवभक्तों द्वारा भजन कीर्तन किया जाना स्वभाविक है। उन्होंने कहा कि सर्वाच्चय न्यायालय का निर्देश है कि बिना अनुमति के ध्वनि सम्बंधित यन्त्र नहीं बजा सकेंगे। उन्होंने कहा कि इस सम्बंध में ध्वनि प्रदूषण न हो सके, इसके लिए बिना सक्षम अधिकारी की लिखित अनुमति के बिना कोई भी लाउडस्पीकर न बजाया जाए। उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति रात्रि के दस बजे से प्रातः छह बजे तक लाउडस्पीकर का प्रयोग नहीं कर सकेगा। उन्होंने कहा कि किसी भी चिकित्सालय, शैक्षिक संस्थाओं तथा कोर्ट के चाहरों ओर कम से कम सौ मीटर का क्षेत्र शान्त घोषित किया गया है। उन्होंने कहा कि जनपद में धारा 144 लागू करते हुए डीजे को प्रतिबंधित किया गया है। इसकी सूचना जनपद के समस्त डीजे रखने वालों को दी गई। कावड़ यात्रा के सम्बंध में जो कावड़ समितियाँ डीजे के इतर अन्य ध्वनि विस्तारक यन्त्र का प्रयोग करने हेतु आवेदन करना चाहता है, उनसे आवेदन संलग्न प्रारुप पर प्राप्त किया जाए। उक्त आवेदन के सम्बंध में पुलिस आख्या प्राप्त कर अनुमति कावड़ समिति के मुख्यालय जनपद जिलाधिकारी द्वारा संलग्न कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि शर्तांं का कड़ाई से पालन करना होगा, भंडारे की व्यवस्था जिस तरफ से यात्री जा रहे हों उस तरफ रोड को छोड़ कर की जाए, जिससे यात्रियों को दुविधा का सामना न करना पड़े। जिस व्यक्ति को भी अनुमति लेनी हो वह नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय में आवेदन पत्र देकर अनुमति प्राप्त कर सकता है।
इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक चन्द्र प्रकाश, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अजय कुमार श्रीवास्तव तथा एसपी सिटी कमल किशोर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *