धार्मिक स्थल निर्माण को लेकर दो संप्रदाय के लोगों मे हुआ विवाद।

शाहजहांपुर………..(अश्वनी शुक्ला)

शाहजहांपुर मे  मोहल्ला जिया खेल में धार्मिक स्थल निर्माण को लेकर दो संप्रदाय के लोगों में जमकर हुआ विवाद।

शहर कोतवाली थाना क्षेत्र के मोहल्ला जिया खेल में धार्मिक स्थल निर्माण को लेकर दो संप्रदाय के लोगों में जमकर विवाद हो गया। पहले एक पक्ष ने नगर पालिका के ईओ को घेर लिया। फिर अपनी अपनी मांगों को लेकर दोनों पक्षों ने रोड जाम कर दिया। हालात तब ज्यादा गंभीर हो गए। निर्माण स्थल पर दोनों पक्षों के लोग आमने-सामने आ गए और उनमें मारपीट हो गई। सूचना पर एडीएम प्रशासन, एसपी सिटी, सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ तिलहर चार थानों की पुलिस और पीएसी लेकर मौके पर आए और दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराकर निर्माण कार्य रूकवा दिया। दोनों पक्षों को सोमवार की रात्रि सात बजे वार्ता के लिए बुलाया गया है। कोतवाली चौक इलाके के मुहल्ला जिया खेल में एक धर्मस्थल का चबूतरा बनवाया जा रहा है। इसे लेकर मुहल्ले के दो संप्रदायों के मध्य विवाद की स्थिति बन गई। दोनों पक्षों ने कुछ दिनों पूर्व कोतवाली चौक में तहरीर दी थी। इस संबंध में दोनों पक्षों के कुछ लोगों को वार्ता करने कोतवाली में बुलाया गया था। रविवार को सुबह करीब सात बजे ईओ नगर पालिका परिषद एसके सिंह निर्माण स्थल पर पहुंचे तो एक संप्रदाय के लोगों ने निर्माण कार्य रूकवाने की मांग करते हुए उनका घेराव कर दिया। मौके की स्थिति देखते हुए ईओ ने निर्माण कार्य रूकवा दिया। इससे आक्रोशित दूसरे संप्रदाय के लोग गर्रा नदी के घाट पर पहुंच गए। यहां कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना स्वच्छता अभियान एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम में सम्मिलित होने पहुंचे थे। बताया जाता है कि यहां कैबिनेट मंत्री के मिलने में देरी हो जाने से दूसरा पक्ष के लोग आक्रोशित हो उठे उन्होंने गर्रा पुल पर जाम लगाकर जमकर प्रदर्शन किया। इतने में कैबिनेट मंत्री वापस जाने के लिए वहां से गुजरे तो लोगों ने उन्हें भी घेर लिया और नारेबाजी करना शुरू कर दी। इस पर कैबिनेट मंत्री विफर गए, उन्होंने सीढी हटवाकर जाम खुलवाया और विस्तार से बात समझाने को कहकर चले गए। इसके बाद जाम लगाने वाला पक्ष पुनः मुहल्ले में पहुंचकर निर्माण कार्य कराने लगा। इस पर दूसरा संप्रदाय फिर भडक उठा और गर्रा पुल आकर फिर से जाम लगा दिया। सूचना पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली अशोक पाल सिंह पुलिस के साथ मौके पर आए और निर्माण रूकवाए जाने का आश्वासन देकर निर्माण स्थल पर पहुंच गए। हालात तब बेकाबू हो गए जब मौके पर दोनों संप्रदायों के लोग एकत्रित होकर गए। उनमें जमकर कहासुनी होने लगी। कुछ शरारती तत्वों ने मारपीट कर दी। वो तो गनीमत रही कि पुलिस सजग थी। दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर हालात काबू में कर लिए गए। हालांकि इस दौरान पुलिस से काफी नोक-झोंक
भी हुई। हालात बिगडते देख एडीएम प्रशासन जितेंद्र शर्मा, एसपी सिटी दिनेश त्रिपाठी, सिटी मजिस्ट्रेट विनय प्रकाश श्रीवास्तव, सीओ तिलहर मनोज यादव सदर बाजार, रौजा, आरसी मिशन की फोर्स एवं पीएसी लेकर मौके पर आ गए। उन्होंने हल्का बल प्रयोग करके मौके पर खडे लोगों को हटवाया। धर्मस्थल की वीडियोग्राफी कराई गई। एडीएम ने दोनों पक्षों के लोगों से वार्ता की और सोमवार को रात्रि सात बजे वार्ता के लिए कह दिया। तब तक के लिए निर्माण कार्य रूकवा दिया गया है। मुहल्ले में सुरक्षा की दृष्टिगत पीएसी तैनात कर दी गई है।

दो बार जाम लगने से परेशान हुए आमजन।
जिया खेल में धर्मस्थल के निर्माण को लेकर दो संप्रदायों के बीच विवाद दो बार सडक पर आया। पहले निर्माण की मांग और दोबारा निर्माण बंद कराने की मांग को लेकर जाम लगाया गया। इससे राहगीरों को भारी दिक्कतों का सामना करना पडा। करीब चार घंटों तक रोड जाम रही। इसमें कई रोडवेज बसें और एम्बुलेंस फंस गईं। अपने गंतव्य की ओर जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हुई।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *