पीएम ने झारखंड में कोयला खदान हादसे में गई जानों पर गहरा दुख प्रकट किया

झारखंड……………..

9 शव बरामद, सभी 10 खनन उपकरणों को निकाला गया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने झारखंड में हुए कोयला खदान हादसे में लोगों की मौतों पर गहरा दुख प्रकट किया है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया – ‘‘झारखंड मेंखदान दुर्घटना में लोगों की मौत पर अत्यंत शोक है। जो लोग खान में फंसे हैं उनकी रक्षा के लिए ईश्वर से प्रार्थना है। पूरी घटना पर मुख्यमंत्री रघुवर दाससे बातचीत की।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि झारखंड सरकार और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल स्थिति सामान्य करने के लिए काम कर रहे हैं। राहत एवं बचावकार्य के लिए एनडीआरएफ को लगाया गया है। ईस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (ईसीएल) के सीएमडी ने बताया है कि हादसे की जगह से अभी तक 9 शव निकाले जा चुके हैं। कंपनी ने मृतकों के परिजनों कोकर्मकार मुआवजा अधिनियम के तहत दी जाने वाली राशि के अलावा पांच-पांच लाख रुपये का अनुग्रह मुआवजा दिए जाने की घोषणा की है। ईसीएलद्वारा मृतक के परिजनों को सभी आवश्यक मदद दी जा रही है। दो लोग घायल हुए हैं और उनका क्षेत्र के अस्पताल में इलाज चल रहा है। इनमें से एक कोआगे के इलाज के लिए दुर्गापुर भेजा गया है। ईसीएल और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी कल शाम से राहत एवं बचाव कार्य की निगरानी कर रहे हैं। दोपहर 2 बजे तक सभी 10 एक्सकेवेटर औरडंप ट्रकों को निकाल लिया गया है। राहत एवं बचाव कार्य में एनडीआरएफ को भी लगाया गया है। प्रथम दृष्टया यह पाया गया है कि घटना अप्रत्याक्षित है। यह छिपी हुई फाल्ट लाइन/स्लिप के साथ बेंच एज के फेल हो जाने की वजह से हो सकती है। खदान सुरक्षा के महानिदेशक ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। इसके अलावा कोल इंडिया लिमिटेड ने हादसे की जांच के लिए विशेषज्ञों की एक उच्चस्तरीय समिति गठित कर दी है। ईसीएस की राजमहल परियोजना के प्रोजेक्ट ऑफिस में एक नियंत्रण कक्ष भी स्थापित किया गया है। श्री आर.आर. अमिताभ (जीएम, खान) नियंत्रण कक्षके इन-चार्ज हैं। उनका फोन नंबर है – 9771447171

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *