पीसी ने सुपारी देकर डीजीसी साधना शर्मा की कराई हत्या

बदायूं। 28 june

प्रभारी डीजीसी साधना शर्मा की मार्ग
दुर्घटना में मौत के बाद पुलिस ने आज घटना का
खुलासा कर दिया। पुलिस ने तीन लोगों को
गिरफ्तार कर दावा किया कि पीसी शर्मा ने
सुपारी देकर सुश्री शर्मा की हत्या कराई थी। तीनों
आरोपियों को जेल भेजकर अन्य की तलाश में पुलिस
जुट गई है।
यहां बताते चलें कि २३ मई को नौकर के साथ उझानी
अपने घर स्कूटी से जाते समय एडीजीसी सुश्री शर्मा
को अज्ञात वाहन ने जिरौलिया के पास टक्कर मार
दी थी। इस दुर्घटना में गंभीर घायल एडीजीसी की
अस्पताल में मौत हो गई थी। उनकी बहन विपर्णा
शर्मा ने श्रवण कुमार, गुड्डू उर्फ सुधांशु, ब्रजेंद्र नाथ
शर्मा, कमल शर्मा, भूरे एवं योगेंद्र सागर के खिलाफ
मुकदमा दर्ज कराया था। जांच के दौरान पुलिस ने जो
आज खुलासा किया, वह चौंकाने वाला है। उझानी
पुलिस ने दावा किया कि संजरपुर भट्टे के पास बीते
दिन उन्होंने शमशाद पुत्र नत्थू एवं राजू पुत्र कल्लू
निवासी बेहटा गुसाई (बिल्सी) को संदिग्ध हालत में
पकड़ा। पूछताछ में नत्थू ने बताया कि गाड़ी मालिक
राजू व इशरत पुत्रगण कल्लू, यासीन बाबा निवासी
बेहटा गुसाईं, बिल्सी, मोहब्बत पुत्र साजिद, परौली,
बिल्सी ने मेरे पास लाइसेंस होने के कारण दो लाख रुपये
का लालच देकर चालक बनवाकर एक्सीडेंट कराया था।
गिरीश चंद्र मिश्रा ने ४८ हजार रुपये नगद दे भी दिए थे।
पुलिस के अनुसार गिरीश चंद्र मिश्रा ने बताया कि
संपत्ति के लालच में रिश्ते के बहनोई पीसी शर्मा ने
साढ़े चार लाख रुपये में सुपारी दी थी।
पुलिस ने बताया कि यह घटना करने और कराने में
उपरोक्त चार के अलावा पिंटू उर्फ मुनेंद्र, निवासी
नगला सलारपुर, मुजरिया, मस्ताना उर्फ अब्दुल नवी,
निवासी भीकमपुर, मुजरिया एवं पीसी शर्मा पुत्र
वंशीधर शर्मा निवासी डीएमरोड बदायूं शामिल हैं।
पुलिस ने अन्य आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी को
जाल बिछाना शुरू कर दिया है। पुलिस ने तीन
आरोपियों का गिरफ्तार करके किया खुलासे का
दावा किया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *