बजीरगंज क्षेत्र के पूर्व माध्यमिक विद्यालय गोठा में आत्मरक्षा के गुर सिखाते गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा

बदायूँ ……………….

बजीरगंज अखिल विश्व गायत्री परिवार शांतिकुंज हरिद्वार के तत्वावधान में प्रखर बाल संस्कारशाला द्वारा पूर्व माध्यमिक विद्यालय गोठा में दो दिवसीय ‘‘बेटियां बनें आत्मरक्षक‘‘ कार्यक्रम के अंतर्गत पहले दिन बच्चों को राष्ट्रध्वज का सम्मान, प्राथमिक चिकित्सा, आग से बचाव और प्राकृति आपदाओं में घायल लोगों की सहायता करने आदि की जानकारी दी गई।
प्रधानाध्यापक नेत्रपाल सिंह ने राष्ट्रध्वज फहराया और कहा कि बालिकाएं हमारे देश का गौरव हैं। उनकी विलक्षण प्रतिभाऐं श्रेष्ठ मार्गदर्शन कर दूसरों के भविष्य को संवारती हैं। बालिकाएं सराहनीय सेवाओं से ऊंचा आर्दश और पवित्र आचरण प्रस्तुत कर नया इतिहास रचें।
गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि बालिकाएं बुलंद भारत की बुलंद तस्वीर बनकर दूसरों के लिए मिशाल बनी हुई हैं। स्वयं आदर्श उदाहरण हैं। बच्चे शिक्षकों के अपार ज्ञान को अर्जित करें और नैतिकता से लोगों के जीवन को उदात्त और महान बनाएं। हमारी प्रार्थनाएं, संकल्प और श्रेष्ठकर्म राष्ट्रभक्ति का जज्बा बनाए रखते हैं।
शिक्षक डॉ. शिक्षक मनोज कुमार वार्ष्णेय ने कहा कि युवाशक्ति अपने चिंतन, चरित्र और व्यवहार में अमूलचूल परिवर्तन लाकर भ्रष्टाचार मुक्त जीवन जिऐं। आपके श्रेष्ठ संस्कारों से बच्चों को सद्गुणों की अतुलनीय शक्ति मिलेगी। शिक्षिका सुधा सिंह, पुष्पपाल सिंह ने बच्चों के कार्यों की सराहना की।
बेटियां बनें आत्मरक्षक कार्यक्रम में बालिकाओं को आग में फंसे लोगों को निकालना, जलने व झुलसने पर उपचार, डूबते हुओं को बचाना, प्राथमिक उपचार देना, मरीज को ले जाना, हाथों की सीटें बनाना, पटिट्यां बांधना, जंगलों और पहाड़ों पर शानदार जीवन जीने के तौर तरीकों की जानकारी दी गई। इस मौके पर कृष्णपाल सिंह, रामपाल सिंह, मनु मौर्य, कमलेश, प्रेमसिंह आदि शिक्षक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *