बदायूँ: एक सप्ताह में कुपोषण मुक्त करे, गांव : डीएम

बदायूँ…………जनपद को जल्द से जल्द कुपोषण मुक्त करें। जिला कार्यक्रम अधिकारी 10 से ज्यादा कुपोषित गांव में स्वयं जाए। कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराकर कुपोषण मुक्त किए जाए।
         सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थिति सभाकक्ष में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पोषण मिशन समिति की बैठक आयोजित की गई। उन्होंने निरीक्षण में 33 गांव में सबसे ज्यादा कुपोषित बच्चे पाए जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त निर्देश दिए कि एक सप्ताह कुपोषण मुक्त किए जाए। उन्होंने सीडीपीओ को निर्देश दिया कि  औचक निरीक्षण करेंगे जिस गांव में सुधार नहीं आया  उसके विरुद्ध कार्रवाई करेंगे।  डीपीओ  10 से ज्यादा कुपोषित बच्चें जिस गांव में है वहां स्वयं जाकर निरीक्षण करें। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन गांव में  सीडीपीओ बराबर  कुपोषित बच्चों की देखरेख करें। लाल श्रेणी वाले बच्चों  एनआरसी में भर्ती कराकर कुपोषण मुक्त किया जाए।  ब्लॉक अंबियापुर, आसफपुर, बिसौली, इस्लामनगर कादरचौक एवं म्याऊं की सीडीपीओ की कुपोषित बच्चों को एनआरसी पर लाने में लापरवाही करने पर वेतन आहरण पर रोक लगाने के निर्देश दिए। 14 से 20 वर्ष के किशोरियों को नीली आयरन की गोली समय से न उपलब्ध कराए जाने पर सीएमों को चेतावनी देने के निर्देश उन्होंने। एएनएम आशा कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराएं, जिससे  बच्चें लाल श्रेणी से बाहर आकर  सामान्य जीवन जी सके। उन्होंने कहा कि क मुख्यमंत्री की महत्वपूर्ण कार्यक्रम है इसमें किसी प्रकार की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 33 गांवों में अचानक निरीक्षण करेंगे, जिसका काम सही नहीं मिलेगा  उसको प्रतिकूल प्रविष्टि देगे। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शेषमणि पांडे, पीडी डी आर डीए  राम सिंह एवं सीएमएस आर एस यादव सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *