बदायूँ का सर्राफा भ्रष्टाचार/सेल्स टैक्स अधिकारियों की मिलीभगत से फल.फूल रहे सर्राफा व्यापारी

बदायूँ………….एक ओर जहाँ देश में भ्रष्टाचार से निपटने के लिए केन्द्र सरकार तरह.तरह के उपाय कर रही है और उत्तर प्रदेश में योगी सरकार भी केन्द्र सरकार के नक्शेकदम पर आगे बढ़ रही है वहीं उत्तर प्रदेश का एक छोटा सा शहर बदायूं सर्राफा व्यापारियों के भ्रष्टाचार का गढ़ बना हुआ है। यहाँ सेल्स टैक्स के अधिकारियों की मिलीभगत से सर्राफा व्यापारी फल.फूल रहे हैं। यहाँ सुनार सोने.चांदी के पुराने आभूषण सस्ते दामों पर खरीदकर अपने लेजर में नये जेवर के रूप में दिखाता है। अनुमान है कि इस शहर में बाहर से आकर बसे हुए लगभग 20 परिवार गलाई पकाई का कामकरने वाले प्रतिदिन लगभग एक से डेढ़ किलोग्राम सोने और पचास से साठ किलोग्राम चांदी की गलाई का काम करते हैं और फिर स्थानीय कारीगरों द्वारा इनसे जेवर तैयार करवाये जाते हैं। नोटबन्दी के दौरान यहाँ के मशहूर सरॉफों ने बैंकों में करोड़ो रुपये जमा किए और ग्राहकों का अग्रिम जमा दिखाकर बाद में धीरे.धीरे बिल काटे गये। यद्यपि स्थानीय लोगों द्वारा सेल्स टैक्स अधिकारियों तक शिकायत पहुँचाई गयी किन्तु अभी तक इस पर कोई अधिकारी कार्यवाही करने का इच्छुक नहीं दिखाई देता। देखना यह है कि सरकार की दृष्टि इस प्रकार के मामलों पर कब तक और कहाँ तक जा पायेगी या फिर सरकार अपनी ही नींद में सुस्ताती रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *