बदायूँ: भ्रष्टाचार के विरुद्ध चौथे दिन भी जारी रहा उपवास/आन्दोलन को गम्भीरता से नहीं ले रहा है प्रशासन।

बदायूँ: भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान  उत्तर प्रदेश के तत्वावधान में जनपद बदायूं में सूचना का अधिकार, जनहित गारंटी कानून, नियम 24 एवं पंचायत राज व्यवस्था को प्रभावी बनाने, जनपद के प्रमुख घोटालों में कार्यवाही किए जाने तथा सोतनदी को अविरल बनाये जाने की मांग को लेकर मालवीय आवास गृह बदायूं पर  उपवास/ सत्याग्रह आज चौथे दिन भी जारी रहा तथा दिनांक 29-12-2017 को भी जारी रहेगा।
उपवास स्थल पर उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुए भ्रष्टाचार मुक्ति अभियान उत्तर प्रदेश के मुख्य प्रवर्तक हरि प्रताप सिंह राठोड़ एडवोकेट ने कहा कि जनपद बदायूं में भ्रष्टाचार चरम पर है, बिना रिश्वत के वैधानिक कार्य भी नहीं होते हैं।आम आदमी को रिश्वत देने को विवश किया जाता है। फलस्वरूप अधिकारियों और कर्मचारियों की चल एवं अचल संपत्तियों में भारी वृद्धि हो रही है।जन कल्याणकारी योजनाएं भ्रष्टाचार की गिरफ्त में हैं।
 श्री राठोड़ ने कहा कि जनपद में सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 एवं उत्तर प्रदेश सूचना का अधिकार नियमावली 2015 पूर्णतया निष्प्रभावी है।अत्यंत महत्वपूर्ण कानून जनहित गारंटी कानून का पालन नहीं किया जा रहा है। पंचायत राज व्यवस्था निष्क्रिय है। नियम 24 का विवरण सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है। जनपद  के प्रमुख घोटालों प्याऊ घोटाला,यूनीफार्म घोटाला, विद्युतीकरण घोटाला, मार्गों के निर्माण/गड्ढा मुक्त करने के कार्य में घोटाला एवं राशन घोटालों में कार्यवाही नहीं की जा रही है। बल्कि घोटाले के लिए उत्तरदाई व्यक्तियों को संरक्षण प्रदान किया जा रहा है।
 जनपद में जनोपयोगी कानूनों को प्रभावी बनाने एवं घोटालों में कार्यवाही होने तक आंदोलन जारी रहेगा।
 शीघ्र मांगे पूरी न होने पर उपवास को आमरण उपवास में  परिवर्तित करने की भी रणनीति बनाई गई।
आज़ उपवास पर बैठने वालों में प्रमुख रूप से युवा मंच संगठन के सन्स्थापक/अध्यक्ष ध्रुवदेव गुप्ता,सन्त रविदास सेवा न्यास के अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार, महाराणा प्रताप विकास ट्रस्ट के ट्रस्टी धनपाल सिंह, रक्षपाल सिंह एडवोकेट, राजपाल सिंह चौहान, रामगोपाल,कैप्टन आर पी सिंह भदौरिया, सुरेश पाल सिंह चौहान, दिलीप जोशी,सुखराम, मन्गल सिंह, आजाद सक्सेना,रविशरण सिंह, जगपाल सिंह,ऋषभ गुप्ता, विवान यदुवंशी, आदि सम्मिलित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *