बदायूं: बिरोधिओ पर जम कर बरसीं बसपा सुप्रीमो मायावती

बदायूं……………

आज बदायूं में मायावती ने एक चुनावी जनसभा को संबोधित किया। वह हेलीकॉप्टर से एक घंटा देरी से बदायूं पहुंची। और अपार जनता को देखकर गदगद हो गई। पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सभी तैयारियां पूर्ण रुप से पहले से ही कर रखी थी। मायावती ने 1 घंटे तक जनता को संबोधित करती रहीं ।

पहले अपनी बेदाग सरकार के जीतने पर होने वाले लाभ गिनाते हुए मायावती ने कहा कि बदायूं की जनता काफी समझदार है। विरोधियों पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि दंगे-फसाद  बलात्कार, लूटकांड, अवैध कब्जा व माफिया राज इस सरकार की पहली पहचान बन गयी है । लेकिन यदि बीएसपी की सरकार बनती है। तो यह सब नहीं होगा। वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश में बीएसपी की सरकार के अलावा कोई अन्य बनाओगे तो नुकसान उठाना पड़ेगा अगर बीएसपी की सरकार बनती है। तो हम गुंडों को सबक सिखा कर रहेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में गुंडागर्दी और माफियागिरी को बसपा कभी सहन नहीं करेगी। बसपा की सरकार बनने के बाद पट्टे की भूमि पर किए जाने वाले कब्जों को सरकार विशेष अभियान के तहत मुक्त कराएगी। और दोबारा नये पट्टे भी किए जाएगें। मायावती ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने जनता से कहा था। कि हम गरीबों के खातों में पैसे डालेंगे क्या कोई पैसा वापस आया? और उन्होंने कहा था कि 100 दिन में काला धन विदेशों से वापस लेकर आएंगे। लेकिन क्या मोदी जी ऐसा कर पाए? और कभी कर भी नहीं पाएंगे। और गरीब लोगों के कर्जे माफ करने की भी नरेंद्र मोदी ने बात कही थी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ सब हवा हवाई बनकर रह गया।  बीजेपी वालों ने यह सब अपने स्वार्थ के लिए किया है। जिससे जनता को भारी नुकसान उठाना पड़ा। और देश की आर्थिक व्यवस्था भी चरमरा गई है। बीजेपी वालों ने पहले ही अपने चाहेतों व रिश्तेदारों का पैसा ठिकाने लगवा दिया। और बाद में जनता को नोट बंदी का फैसला सुना दिया। और अपने आप को हरिश्चंद्र समझने वाले नरेंद्र मोदी ने जनता को भरी मुश्किल मैं डाल दिया है। इसका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गिन गिन कर हिसाब देना पड़ेगा । भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाई को भाई को लड़ाने की राह बनाने वाली यह पार्टी कभी लव जेहाद को सामने ले आती है। और इस पार्टी को अब तीन तलाक की याद आ गई है।  सपा को आढ़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि सपा तो विकास के नाम पर जनता के सामने आने का दम भर रही थी।  लेकिन अब कांग्रेस को मैदान में साथ लेकर आने की मजबूरी उठा रही है। इस अवसर पर ज़िलाअध्यक्ष हेमेन्द्रगौतम, मण्डल जोन कोर्डिनटर अतुल कश्यप, प्रत्याशी काजी रिजवान, हाजी मुसर्रत बिट्टन, अरशद बिट्टन, भूपेंद्र सिंह पटेल, सिनोद शाक्य और मेजर कैलाश आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *