बिल्सी समुदाय स्वास्थ्य केंद्र की सेवाए वदहाल/मरीजों को भटकना पड़ता है दर बदर

 बदायूं…………. बिल्सी नगर के समुदाय स्वास्थ्य केंद्र पर गर्भवती महिलाओं के लिए नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री की ओर से हर महा की 9 तारीख के लिए गर्भवती महिलाओं का चेकअप कराने के दौरान कैंप लगाया गया इस कैंप में गर्भवती महिलाएं सभी गांव और नगर की मौजूद रही गर्भवती महिलाओं को ना तो बैठने की सुविधाएं दी गई और ना ही पानी पीने की गर्भवती महिलाएं बेचारी जमीन पर बैठ गई और पानी पीने के लिए इधर-उधर पानी को तलाशने की कोशिश की फ़ाइनल वीओ: हर महा की 9 तारीख को यह कैंप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आदेश द्वारा लगाया जाता है इस कैंप में सभी गर्भवती महिलाएं नगर व ग्रामीण क्षैत्र की आती है इन महिलाओं को निशुल्क चेकअप कराया जाता है गर्भवती महिलाओं को ना तो समुदाय स्वास्थ्य केंद्र बिल्सी में बैठने के लिए कुछ व्यवस्था की गई ना ही उनके लिए पानी की कोई व्यवस्था की गई गर्भवती महिलाएं बेचारी जमीन पर बैठी और उन्हें अपनी पर्ची लेने के लिए धूप में लाइन लगानी पड़ी और वह लाइन पुरुष और महिलाओं दोनों के लिए ही एक ही लाईन थी जहां महिलाएं पुरुषों से जद्दोजहद करती रही कभी पुरुष आगे बढ़ जाए करें तो महिलाओं को पीछे धकेल दिया करें इस बीच गर्भवती महिलाएं बड़ा दुखी हो गई परेशान हो गई उनका कहना है कि सुबह से हम अपने घर से आए हैं हमारा गला पानी की वजह से सुखा जा रहा है अस्पताल में ना तो पानी की व्यवस्था की गई है और ना ही कोई धूप से बचने के लिए कुछ किया गया है हम सुबह से आए हैं लाइन में लगे हुए हैं यहां पुरुष भी हैं और इसी लाइन में महिलाएं भी हैं और एक बात और बताते चले की बिल्सी समुदाय स्वास्थ्य केंद्र पर महिलाओं को बैठने की व्यवस्था तो है ही नहीं अस्पताल की गैलरी में इमरजेंसी रूम के सामने महिलाएं गर्भवती लेटी हुई है और उनके बराबर में कुत्ता बैठा हुआ है और किसी डॉक्टर साहब की मोटरसाइकिल भी खड़ी है इस बीच ना तो किसी डॉक्टर का ध्यान जाता है और ना ही किसी सफाई कर्मचारी का यहां सफाई की व्यवस्था भी ध्वस्त देखी गई अंदर जो चेकअप के लिए लाइन लगाई गई है महिलाओं की उन महिलाओं का कहना है कि पिछले 3 से 4 घंटे हो गए हमें खड़े हुए लाइन में पसीना हमारा वह पड़ा है और बड़ा परेशान हो गए हम से खड़ा नहीं हुआ जा रहा गर्मी में बड़ा बुरा हाल है हमारा यह पानी की टंकी अस्पताल में जो रखी है इसमें ना तो पानी आ रहा है वह पानी पीने की इच्छा तो कर ही नही सकती क्योंकि यहां टंकी पर इतनी गंदगी है कि देखते ही मन भर जाता है और यहां कुछ मरीजों का यह भी आरोप है कि दवाइयां पैसों से दी जाती हैं और हर मर्ज के लिए वही गोली दी जाती है एक ही गोली सारे मरीजों के लिए काम करती है मरीज बिचारे जमीन पर लेटे हैं इनकी पुकार कोई सुनने वाला नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *