मुरादाबाद: नगर निकाय चुनाव की तैयारियां लगभग पूरी (एसडीएम बिलारी)

मुरादाबाद……..(रिपोर्टर हिलाल अकबर)
उत्तर प्रदेश नगर निकाय चुनाव की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं जो बदलाव आए हैं उनकी जानकारी के लिए एसडीएम बिलारी राम प्रकाश सिंह ने पत्रकार वार्ता में  बताया कि बूथों की भाग संख्या में कुछ बदलाव आया है कि एक से 17 तक वही सेम क्रमांक है जबकि 17 से एक संख्या बढ़ गई है भाग संख्या 17 की जगह 18 हो गई है यह क्रम भाग संख्या 35 तक के स्थान पर 36 हो गई है प्रत्याशियों से नामांकन फार्म में सही भाग संख्या डालने को कहा गया है
राज्य निर्वाचन आयोग उत्तर प्रदेश ने मान्यता प्राप्त ब आमान्यता प्राप्त पंजीकृत 92 दलों की सूची को जारी किया है जिसमें बताया गया है कि 18 राष्ट्रीय एवं राज्य निर्वाचन आयोग मैं पंजीकृत मान्यता प्राप्त दलों की सूची तथा 19 गैर मान्यता प्राप्त दलों के चुनाव चिन्ह को फिक्स किया गया है इसके अलावा 55 दल ऐसे हैं जिनको चुनाव आयोग ने चुनाव चिन्ह आवंटित नहीं किया है ऐसे दल के उम्मीदवारों को 5 चुनाव चिन्ह का विकल्प देकर एक चिन्ह अपनाने का विकल्प दिया जाएगा अगर एक से अधिक उम्मीदवार उसी चिन्ह को अपनाते हैं तो लॉटरी प्रक्रिया अपनाकर उसे चिन्ह आवंटित किया जाएगा इसके अलावा एसडीएम रामप्रकाश जी ने बताया कि चुनाव के समय में उम्मीदवारों के खातों की लेनदेन पर विशेष नजर रखी जाएगी इसके अलावा चुनाव प्रचार के वाहनों की परमिशन उप जिलाधिकारी महोदय के कार्यालय से ही प्रदान की जाएगी आचार संहिता के तहत लाउडस्पीकर सुबह 6:00 बजे से रात्रि 10:00 बजे तक बजाने का प्रावधान है TV चैनल या वीडियो वाहन की परमिशन जिला मुख्यालय से होगी चुनाव सामग्री छापने वाले मुद्रक अपना नाम व प्रतियों की संख्या जरूर डालें नगर पालिका परिषद अध्यक्ष के लिए तीन वाहन नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए दो वाहन और सदस्य के लिए एक वाहन की अनुमति प्रदान की जाएगी इससे अधिक वाहन के लिए परमिशन जिला मुख्यालय से होगी चुनावी खर्च को लेकर बताया कि नगर पालिका अध्यक्ष के लिए 6 लाख रुपए नगर पंचायत अध्यक्ष के लिए डेढ़ लाख रुपए नगर पंचायत सदस्य के लिए ₹30000 की धनराशि खर्च करने का प्रावधान है और बताया कि मतदान केंद्र से 200 मीटर की दूरी पर चुनावी कार्यालय बना सकते हैं जबकि धार्मिक स्थल नहीं हो धार्मिक सामग्री को चुनावी सामग्री से ना जोड़ें किसी के मकान पर कोई पोस्टर या इश्तहार लगाना हो तो भवन स्वामी से जरूर पूछ लें ताकि विवाद ना हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *