मेले में शौचालय का ही प्रयोग करें श्रद्धालु : सीडीओ

बदायूँ…………रुहेलखण्ड के मिनी कुम्भ के नाम से मशहूर मेला ककोड़ा में दूर-दराज से बड़ी आस्था के साथ ऋद्धालु गंगा में स्नान के लिए आते हैं। इसके लिए जिला प्रशासन ने पुख्ता इंतेजाम तो किए ही हैं, साथ ही शिक्षा, ग्रामीण स्वच्छ भारत मिशन, दुग्ध उत्पादन एवं पंचायत राज विभाग की ओर से प्रदर्शनी भी मेले में लगाई गई।
शुक्रवार को मेला ककोड़ा में मुख्य विकास अधिकारी शेषमणि पाण्डेय ने शिक्षा, ग्रामीण स्वच्छ भारत मिशन, दुग्ध उत्पादन एवं पंचायत राज विभाग की प्रदर्शनियों का शुभारंभ कर उनका अवलोकन किया। इस मौके पर सीडीओ ने कहा कि जनपद को 31 दिसम्बर तक ओडीएफ किए जाने का लक्ष्य निर्धारित है। प्रत्येक नागरिक जब तक स्वेच्छा से खुले में शौच के खिलाफ आवाज़ नहीं उठाएगा, तब तक किसी भी हाल में जनपद ओडीएफ नहीं हो पाएगा। उन्होंने मेले में आए हुए श्रद्धालुओं से भी अपील की कि मेले में शौचालय बनवाए गए हैं आवश्यकता पर इसका ही प्रयोग करें किसी भी दशा में खुले में शौच के लिए न जाएं। इसी प्रकार रोजमर्रा की ज़िदगी में भी शौचालय के प्रयोग की ही आदत डालें। खुले में शौच न केवल वातावरण को दूषित करती है, बल्कि विभिन्न प्रकार की बीमारियों को भी जन्म देती है। उन्होंने कहा कि बच्चे अपने बड़ों के आदर्शां पर ही चलकर अपने भविष्य का निर्माण करते हैं। यदि बड़े ही खुले में शौच के लिए जाएंगे तो बच्चों को वह शौचालय के प्रयोग के लिए कैसे समझा पाएंगे। उन्होंने कहा कि विदेशो में भारत को इस कुप्रथा के लिए बड़ी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। इस लिए आज से ही संकल्प लें कि अपने घर में शौचालय बनवाएंगे और अपने घर के सभी सदस्यों को इसका प्रयोग करने के लिए प्रेरित करेंगे एवं अपने देश को किसी दशा में शर्मिन्दा नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि यह एक अभियान हैं, इसमें हर वर्ग के लोगों को सहयोग करना होगा। कुछ लोगों के घर में शौचालय हैं, परन्तु फिर भी वह शौच के लिए खुले में ही जाते हैं, यह एक मानसिक रोग है, जिसका इलाज अभी से प्रारम्भ करना पड़ेगा, अन्यथा यह बड़ी बीमारी का रूप भी ले सकता है। उन्होंने सभी श्रद्धालुओं से अपील की कि जिनके घर में शौचालय नहीं है, वह शौचालय बनवाएं और जिनके घर में शौचालय है, वह शौचालय का प्रयोग करे और दूसरों को भी इसे बनवाने के लिए प्रेरित करें। सभी के सहयोग से जनपद ओडीएफ हो सकेगा। इस मौके पर जिला पंचायत राज अधिकारी राजीव कुमार मौर्य एवं बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रेम चन्द्र यादव सहित विभिन्न विभागों से सम्बंधित अधिकारी एवं कर्मचारी एवं श्रद्धालु मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *