रायबेरली – ऊंचाहार में NTPC का बॉयलर फटने से बड़ा हादसा, २०० से अधिक लोग धायल

उत्तरप्रदेश के जिले रायबरेली से एक मामला सामने आया मौके पर मौजूद कर्मचारी जान बचाकर भागने लगे। इसकी सूचना मिलते ही मौके पर भारी मात्रा में पुलिस और पीएसी के अलावा पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने दर्जनों एम्बुलेंस के जरिये घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

कुछ श्रमिकों की हालत नाजुक देखते हुए उन्हें लखनऊ रेफर किया गया है फ़िलहाल ये हादसा कैसे हुआ इसकी अधिकारी जांच कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, ऊंचाहार स्थित एनटीपीसी परियोजना में 500 मेगावाट का बिजली उत्पादन के लिए शुरू की गई है। अभी हाल ही में इस परियोजना ने हाइड्रो टेस्टिंग में पूरे एनटीपीसी में रिकार्ड स्थापित किया है। उससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि विद्युत इकाई निर्धारित समय में बिजली का उत्पादन शुरू कर देगी। लेकिन बुधवार दोपहर को हुए अचानक हादसे ने सबको झकझोर कर रख दिया है। एनटीपीसी का बॉयलर फटने से यहां काम कर रहे 200 से अधिक मजदूर घायल हो गए हैं।

हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर दो दर्जन से अधिक एम्बुलेंस मौके पर घायलों को भरकर अस्पतालों में भर्ती करवा रहीं हैं। बताया जा रहा है कि एम्बुलेंस की कमी के चलते एनटीपीसी की बसों से भी घायलों को अस्पताल भेजा जा रहा है। इस भयावह हादसे में कई श्रमिकों के मरने की सूचना है। हालांकि अभी इस पर आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। सुचना के अनुसार अभी मरने वालो की संख्या 11 बताई जा रही है ये बाद में बढ़ भी सकती है। कई डाक्टरों की टीम और रेस्क्यू टीम मौके पर राहत एवं बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। जिला प्रशासन के अधिकारी और स्थानीय विधायक भी मौके पर पहुंच चुके हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, ये घटना करीब 3:00 से 3:30 बजे के बीच की बताई जा रही है। स्थानीय लोगों ने बताया कि घटना की कवरेज करने गए मीडियाकर्मियों को एनटीपीसी के अंदर घुसने पर प्रतिबंध लगा दिया गया।

ऊंचाहार के स्थानीय विधायक मनोज कुमार पांडेय ने बताया कि हादसे के बाद स्थिति इतनी भयावह है कि उनके चीथड़े गिरते देख वह हैरान रह गए। सीएमओ रायबरेली डीके सिंह ने बताया कि सभी घायलों को इलाज के लिए भर्ती किया गया है। ट्रॉमा सेंटर से भी बात करके लखनऊ के अस्पतालों में भी इंतजाम किये गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *