विवाहिता को मार पीट कर घर से निकाला/बहन को घर छोड़ने गए भाई पर भी हमला।

बदायूं…………..
पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज किया लेकिन आरोपी अब भी पुलिस पकड़ से दूर। उझानी थाना क्षेत्र के पठानटोला का मामला
उझानी कोतवाली क्षेत्र का मामला है कि शेखुपुर की विवाहिता की शादी उझानी के पठानटोला निवासी तारिक के साथ 10 फरवरी को मुस्लिम रीती रिवाज़ से हुई थी।
बताते चले शादी में दान दहेज़ हैसियत से ज्यादा विवाहिता के परिवार ने दिया था। लेकिन आये दिन तारीक अपनी पत्नी को प्रताड़ित करता रहता था। और दहेज़ में चार पहिये की कार न देने को लेकर आये दिन मारपीट करता था। उक्त पति के रवैय्ये से विवाहिता परेशान हो गई और अपने मायके में रहने लगी अभी कुछ दिन पहले विवाहिता का भाई उसके ससुराल छोड़ने गया तभी उक्त पति ने उसके भाई के साथ भी कोई कसर नहीं छोड़ी हद तो तब हुई जब पति तारिक ने अपनी पत्नी को करंट लगाकर मारने का प्रयास किया लेकिन एक कहावत बिलकुल सही बैठती है कि जिसको राखे साइया मांर सके न कोये ये कहावत विबहिता पर बिलकुल सटीक बैठती है।
उक्त घटना के बाद विवाहिता के परिजन उसके घर पहुचे और विवाहिता को बेहोशी की हालत में देखकर आनन् फानन में जिला अस्पताल लाये और फिर थाना सिविल लाइन में दहेज़ उत्पीड़न व जानलेवा हमले का मुकदमा दर्ज कराया। लेकिन मुकदमा दर्ज होने के बाद से विवाहिता के परिवार को लगातार धमकी दी जा रही है। कि अगर मुकदमा वापस नहीं लिया तो जान से मांर देंगे विवाहिता व उसका परिवार पुलिस की कार्येप्रणाली देखकर दहशत में है और उसे थाना सिविल लाइन पुलिस से न्याय की उम्मीद नहीं है ऐसा उसने एसएसपी को दिए प्रार्थना में कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *