सहसवानः इस्लामिक इंटेलेक्चुअल बोर्ड के पदाधिकारियों ने गांव बागवाला पहुंचकर शनिवार रात हुए सडक हादसे में मृतकों के परिजनों को धैर्य बंधाया। (आसिम अली की रिपोर्ट )

बदायूँ/सहसवानः इस्लामिक इंटेलेक्चुअल बोर्ड के पदाधिकारियों ने गांव बागवाला पहुंचकर शनिवार रात हुए सडक हादसे में मृतकों के परिजनों को धैर्य बंधाया  और शासन से मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की। बोर्ड के चेयरमेन व पूर्व मंत्री डा0 मौलाना यासीन अली की अगुवाई में प्रतिनिधि मंडल गांव पहुंचा और शोक संवेदना प्रकट की और परिजनों को धैर्य बंधाया। डा0 उस्मानी ने कहा कि इतने बडे हादसे के बाबजूद चार दिन का समय गुजर जाने के बाद भी जिला प्रशासन के किसी अधिकारी ने न तो घटना स्थल का मुआयना किया और न हीं पीडित परिवार के साथ किसी प्रकार की संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मृतक के परिवार बेहद गरीब हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री विवेकाधीन राहत कोष से मृतक के परिजनों को पांच पांच लाख और घायलों को एक एक लाख रूपये आर्थिक सहायता दिए जाने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष ख्वाजा हमीदउददीन कादरी, प्रदेश सचिव हाफिज इरफान अंसारी, सचिव हाफिज कमर आलम, डा0 शेख सिराज, मुहम्मद अली, नाहिद आलम, मुहम्मद जाकिर, हारून, अजहर अली, शादाब नकवी आदि मौजूद रहे। इस दौरान लोगों ने मृतकों की आत्मा की शांति के लिए दुआ की। बता दें कि शनिवार रात करीब नौ बजे जरीफनगर थाना क्षेत्र के गांव नैनोल बागवाला निवासी तफसील अहमद पुत्र रफीक अहमद अपने ट्रेक्टर ट्राली में भूसा भरकर उस्मानपुर आ रहा था। महावा नदी के पुल पर ट्रेक्टर ट्राली असंतुलित होकर पुल की रेलिंग तोडती हुई नदी में जा गिरी थी। हादसे में गांव निवासी रवीउलहसन (15), अजीम (16), अदनान (15), माजिद (16) की मौत हो गई थी। तफसील और माहिर हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। घायलों का अलीगढ में उपचार चल रहा है।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *