सड़क दुर्घटना में बदायूं के युवक की मुरादाबाद में मौत/दो घायल

दहगवां ।  मुरादाबाद रामपुर रोड पर एक अज्ञात ट्रक ने पिकअप कार में आमने सामने से टक्कर हो गयी जिसमे पिकअप चालक की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि उसमे बैठे गांव के ही दो युबक गम्भीर रुप से घायल हो गए जिन्हे पुलिस ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। जहाँ एक युवक की गम्भीर हालत होने पर उसे मुरादाबाद अस्पताल में भर्ती कराया गया है । जबकि एक युवक के सिर मे चोट आने पर उसे उपचार कर घर भेज दिया गया
घटना की सूचना पुलिस ने म्रतक के परिजनो को दी तो मृतक नवाब सिंह के परिजनों मे कोहराम मच गया थाना जरीफनगर क्षेत्र के गाँव दियोहरा शेखपुर निवासी पान सिंह का (40)बर्षीय पुत्र नवाव सिंह शुक्रवार को अपनी पिकअप कार से अपने दो साथी सुरेन्द्र पुत्र किशनलाल व मोहनलाल पुत्र दुर्जन के साथ जिला रामपुर के काशीपुर जा रहा था कि रात लगभग 11 बजे करीब जैसे ही वह मुरादाबाद से लगभग 20 किलोमीटर आगे पहुंचा कि सामने से आ रहें एक अज्ञात ट्रक से जबर्दस्त भिडन्त हो गयी ट्रक की टक्कर पडते ही कार पलट गयी जिसमे फंसने से नवाब सिंह की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसके दो साथी गाँव दियोहरा शेखपुर निवासी सुरेन्द्र सिंह पुत्र किशनलाल व मोहनलाल पुत्र दुर्जन गम्भीर रुप से घायल हो गये जिन्हें पुलिस ने मुरादाबाद के अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया । जबकि मौका पाकर ट्रक चालक ट्रक लेकर फरार हो गया । पुलिस को अज्ञात वाहन के खिलाफ तहरीर दी है पुलिस ने मृतक के शब का पोस्टमार्टम कराकर उसका शव परिजनों को सौंप दिया जिसे उसके परिजन देर रात अपने गाँव दियोहरा शेखपुर ले आये मृतक का शव देख परिजनों में कोहराम मच गया ।
घायल सुरेन्द्र ने बताया कि बह नवाव सिंह के साथ काशीपुर से गांव के कुछ लोगो को होली के त्योहार पर लेने जा रहे थे गाडी अभी मुरादाबाद से निकली थी कि सामने से आ रहे ट्रक ने टक्कर मार दी यदि सुरेन्द्र की माने तो ट्रक चालक ट्रक कार के ऊपर ही सामने से ला रहा था जिस पर सुरेन्द्र ने कार की खिडकी से कूदना चाहा लेकिन खिडकी खुली बह कूदा भी लेकिन तब तक टक्कर हो गयी अौर कूदने के दौरान खिडकी बापस सुरेन्द्र के सिर मे लगी जिससे बह सडक पर आ गिरा अौर बेहोश हो गया काफी देर तक बह सडक पर ही पडा रहा जब उसे होश आया तो उसने कार के अन्दर देखा तो नबाब सिंह की मौत हो चुकी थी जबकि उसका दूसरा साथी घायल तडप रहा था उसने हिम्मत दिखाते हुए 100 डायल को फोन किया लेकिन रिसीब नही हुआ कुछ देर बाद राहगीरो की भीड एकत्र हो गयी अौर किसी राहगीरो ने पुलिस को फोन किया तो मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलो को उपचार के लिए एम्बूलेन्स से भेजा जबकि म्रतक नबाब सिंह को गाडी काटकर निकाला
बताया जाता है कि नबाब सिंह ने अब से डेढ बर्ष पूर्व जमीन को बेचकर नयी पिक कार निकाली थी उसके पास अब जमीन भी नही है घर मे छोटा भाई जो कि मन्दिर बुद्वि है बुजुर्ग माता पिता तथा चार साल का एक बेटा भी है पूरे घर की जिम्मेदारी नबाब सिंह पर थी उसकी पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है बह दहाडे मार मारकर यही कह रही है कि अब घर का गुजारा कैसे होगा।
           (रिपोर्टर जावेद अली सैफी दहगवां)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *