बदायूँ: सम्पूर्ण समाधान दिवस में डीएम ने सुनी जन शिकायतें।

बदायूँ :  डीएम ने हबीबपुर दजराम निवासी सुभाष एवं पनौड़ी निवासी कस्तूरी सिंह की शिकायत पर लेखपाल यूसुफ नबी और कमल सिंह को निलंबन के निर्देश दिए हैं, साथ ही संपूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त शिकायतों को गुणवत्ता पूर्वक समय से निस्तारण करने के भी निर्देश दिए हैं।
मंगलवार को तहसील बिसौली में सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्रभारी जिलाधिकारी महेंद्र सिंह ने जन शिकायतों को सुना। हबीबपुर दजराम निवासी सुभाष ने शिकायत की 4 वर्ष पूर्व आवासीय पट्टा स्वीकृत किया गया था। अभी तक पट्टे की भूमि को पैमाइश कर कब्जा नहीं दिलाया गया है। डीएम ने उप जिलाधिकारी मु. आवेश को निर्देश दिए कि एक सप्ताह के अंदर कब्जा दिलालाकर दोषी लेखपाल यूसुफ नबी के विरुद्ध दंडात्मक कार्यवाही करें। पनौड़ी निवासी कस्तूरी सिंह ने शिकायत की कि उसके पिता की मृत्यु वर्ष 2017 में हो गई थी, अभी तक लेखपाल कमल सिंह ने विरासत दर्ज नहीं की है, जिसके कारण सरकारी क्रय केंद्र पर गेहूं बेचने में उसे समस्या आ रही है। डीएम ने एसडीएम को निर्देश दिए कि तत्काल आज ही विरासत दर्ज कर प्रार्थी को खतौनी उपलब्ध कराई जाए और दोषी लेखपाल को तीन दिनों के अन्दर निलंबित कर अवगत कराएं। नागपुर नूरपुर निवासी श्यामवती ने शिकायत की दबंग प्रवृति के लोग श्याम प्रकाश, मंगली, शेर सिंह, नेकराम, नंद किशोर एवं दीपक उसकी भूमि पर अवैध कब्जा किए हुए है। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी देते हैं। निजामपुर शाह निवासी सुखदेव की शिकायत है कि उसने पांच अप्रैल 2018 को विद्युत बिल पूर्ण रूप से जमा कर दिया था, जिसके बाद उसपर कोई बकाया नहीं था। 20 दिन बाद दोबारा पुराना बिल आ गया है। उन्होंने एसडीओ बिसौली को जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। प्रभारी जिलाधिकारी ने सभी शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए संबंधित विभागों को जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। संपूर्ण समाधान दिवस में खाद्यान्न, विद्युत, कृषि एवं समाज कल्याण सहित आदि विभागो से कुल 57 शिकायते प्राप्त हुई, जिसमें से पाँच शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। डीएम ने समस्त विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्राप्त शिकायतों को गुणवत्तापूर्ण समय से निस्तारण करें जिससे आम जनता को संपूर्ण समाधान दिवस का पूर्ण लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि शिकायतों में लापरवाही न बरतें। लापरवाही करने वाले अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर जिला विकास अधिकारी सेवाराम चौधरी, पीडी डीआरडीए राम सिंह एवं एसपीआरए डॉ0 सुरेंद्र प्रताप सिंह सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *