बदायूँ: बाढ़ के रैस्क्यू रिहर्सल का सफलतापूर्वक अभ्यास

बदायूँ : बाढ़ की आंशकाओं को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन ने सभी प्रकार की व्यवस्थाएं पूर्ण कर ली हैं। इन सभी व्यवस्थाओं को परखने के लिए डीएम ने रैस्क्यू रिहर्सल अपने सामने कराया। यहां ग्रामीणों ने डूबकर दिखाया और मल्लाहों ने उन्हें बचाने का अभ्यास किया। दूर टीले पर खड़े लोगों को बचाने के लिए मोटर वोट का सफलतापूर्वक अभ्यास किया गया एवं ग्रामीणों को खाद्य सामग्री वितरित की गई।
गुरुवार को जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार एवं अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व महेन्द्र सिंह सहित अन्य अधिकारियों के साथ बाढ़ अशंका वाले ग्रामों का स्थलीय निरीक्षण किया। यहां डीएम के समक्ष ग्रामीणों ने डूबकर दिखाया, जिन्हें गोताखोर और मल्लाहों ने बखूबी बचाने का काम करके दिखाया। डूबे हुए लोगों के पेट से पानी निकाला गया। सभी अधिकारियों ने मोटर वोट में बैठकर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वहीं प्राथमिक विद्यालय में पूर्ति विभाग की ओर से ग्रामीणों को खाद्य सामग्री के 260 पैकेट वितरित किए गए, जिसमें परवल, चना एवं गुड़ था। वहीं टोटपुर करसरी के मजरा परौटी की बहुत ही निर्धन महिला अम्बाला पत्नी बलदेव को डीएम ने 16 प्रकार की सामग्री वितरित की, जिसमें 10 किलो आटा, 10 किलो चावल, 10 किलो आलू, 05 किलो लाई, 02 किलो भुना चना, 02 किलो अरहर दाल, 500 ग्राम नमक, 250 ग्राम हल्दी, 250 ग्राम धनिया, 05 लीटर केरोसिन, एक पैकेट मोमबत्ती, एक पैकेट माचिस, 10 पैकेट बिस्कुट, एक लीटर रिफाइंड तेल तथा 10 क्लोरीन की टैबलेट उपलब्ध थी। डीएम ने ग्रामीणों से कहा कि बाढ़ आने पर सभी को यह 16 प्रकार की सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। तत्पश्चात पूर्ति विभाग की ओर से 500 ग्रामीणों को भोजन कराया गया। डीएम ने कहा कि बाढ़ आने की स्थिति में सभी लोग सुरक्षित स्थान पर पहुँच जाए। डीएम ने जेई को निर्देश दिए कि जिन गांवों में कच्चे मकान बने हैं, उन्हें मनरेगा के अन्तर्गत पक्का बनाया जाए। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी नितीश कुमार, जिला पूर्ति अधिकारी रामेन्द्र प्रताप सिंह, सुभाष गुप्ता, भारतीय जनता पार्टी की दीक्षा माहेश्वरी सहित सैकड़ो लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *