आतंकियों की जन्नत पाकिस्तान का हुक्का पानी बंद करने की तैयारी- अगला कदम

अमेरिका की संसद में पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने के विधेयक पर चर्चा आरंभ हो गई है तो अब भारत की ओर से पाकिस्तान को आतंकी देश घोषित करने में देरी क्यों हो रही है ? भारत को इसके यह स्पष्ट संकेत देने चाहिए । हम जानते हैं कि पाकिस्तान स्वयं उत्पादक देश नहीं है वह सुई से लेकर तकनीक तक विदेशों पर निर्भर करता है तो सबसे पहले निकटतम पडोसी होने के नाते हमें पाकिस्तान से व्यापारिक संबंध खत्म करने होंगे और यह घोषणा करनी होगी कि भारत पाकिस्तान के बीच आज से आयात-निर्यात पूर्णता प्रतिबंधित होगा साथ ही सार्क समूह के सभी देशों से भी इस संबंध में समर्थन हासिल करना होगा इस कदम से पाकिस्तान की आर्थिक नीति को बड़ा झटका लगेगा । परमाणु शक्ति के बल पर अकड़ने वाले पाकिस्तान की कमर टूट जाएगी क्योंकि कोई भी मुल्क भूखा रह कर कुछ भी बुरा सोचने की स्थिति में नहीं रह सकता ।
आज भारत विश्वशक्ति और आतंक की पुरजोर भर्त्सना करने वाला अग्रणी देश के रूप में जाना जाता है भारत को यूरोप के देशों के साथ साथ अपने एशियाई मित्र देशों के समर्थन से एक वैश्विक मुहिम चलानी होगी जिसका नेतृत्व भारत को अपने हाथ में लेना होगा । सिंधु जलसंधि जैसे रिश्तो पर पुनर्विचार करना होगा । खेल, फिल्म जगत, कलाकारों जैसे रिश्ते खत्म करने होंगे ।
आज उरी में सैनिक हत्याकांड के बाद विश्व के सभी देश भारत को समर्थन कर रहे हैं और पाक की कड़ी निंदा कर रहे हैं क्या भारत के नेता सिर्फ राजनीतिक मंचों पर भाषण देने तक ही सीमित हैं । हम भारत के अंदर की असहष्णुता पर महीनों तक भाषण देते हैं और अपने पुरस्कार लौटाने का नाटक करते हैं पर आज अपने सबसे बड़े दुश्मन देश और विश्व का सबसे बड़ा असहिष्णु देश के खिलाफ कोई कूटनीतिक विचार क्यों नहीं रखते । आज आक्रोश में भारत कोई घातक कदम नहीं उठा सकता क्योंकि 18 जानों के बदले हम कोई बटन दबाकर लाखों हिंदुस्तानियों की जान जोखिम में नहीं डाल सकते । युद्ध किसी भी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। परंतु सभी देशों का समर्थन हासिल करके एक मंच पर पाकिस्तान विरोधी लहर पैदा कर उसका हुक्का पानी बंद कर सकते हैं अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा ने यूएन के मंच पर अपने भाषण में यह स्पष्ट चेतावनी दी है कि “छिपकर आतंक का समर्थन करने वाले देश अपने हरकतों से बाज आएं वरना अंजाम बुरा होगा”

एशिया में अगर चीन को छोड़ दें तो लगभग सभी देश भारत में  उरी हमले की कड़े शब्दों में निंदा कर रहे हैं और आतंकवाद पर भारत के साथ खड़े रहने का वादा करते नजर आ रहे हैं जिस पर
अमेरिका की प्रतिक्रिया आई है कि पाकिस्तान प्रॉक्सी वार बंद करें ।

ब्रिटेन ने कहा है कि वह भारत के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आतंकवाद का खात्मे के लिए तैयार है ।

रूस ने कहा कि आतंकवादियों के खिलाफ मुहिम में पाकिस्तान, भारत का पूरा साथ दे । और उसने रूस पाक सेना अभ्यास रद्द करने की चेतावनी दी है mi35 विमान सौदा भी रद्द कर दिया है
विश्व में आज कोई ऐसा सगा नहीं जिसे पाक ने ठगा नहीं

दुनिया आज आतंकवाद से ज्यादा पाकिस्तान से परेशान है और उसकी नजर आज भारत की ओर लगी है। देखना होगा कि आज भारत के चाणक्य अपनी कूटनीति से किस प्रकार पाकिस्तान से बदला लेते हैं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *