दिल्ली: जनवरी 2019 के महीने में जीएसटी राजस्व संग्रह ने एक लाख करोड़ रूपये की सीमा को पार किया

दिल्ली: जनवरी, 2019 के महीने में कुल जीएसटी राजस्व संग्रह 1,02,503 करोड़ रुपये रहा, जिसमें सीजीएसटी 17,763 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 24,826 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 51,225 करोड़ रुपये (आयात से संग्रह 24,065 करोड़ रुपये शामिल) और उपकर (सेस) 8,690 करोड़ रुपये (आयात से संग्रह 902 करोड़ रुपये शामिल) हैं। वित्त वर्ष 2018-2019 के दौरान   जीएसटी राजस्व संग्रह ने तीसरी बार एक लाख करोड़ रूपये की सीमा को पार किया है। दिसंबर महीने के लिए 31 जनवरी, 2019 तक जमा किये गये जीएसटीआर 3बी रिटर्न की कुल संख्या 73.3 लाख है।

निम्न चार्ट, पिछले वित्तीय वर्ष 2017-18 की तुलना में वर्तमान वित्तीय वर्ष 2018-19 के दौरान राजस्व संग्रह में रुझान को दिखाता है:   

सरकार ने नियमित निपटान के रूप में आईजीएसटी से  सीजीएसटी के लिए 18,344 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 14,677 करोड़ रुपये दिए हैं। दिसंबर, 2018 के महीने में नियमित निपटान के बाद केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा अर्जित कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 36,107 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 39,503 करोड़ रुपये है।

जनवरी 2019 का संग्रह दिसंबर के 94,725 करोड़ रुपये के संग्रह से अधिक है, जो नवंबर के 97,637 करोड़ रुपये और अक्टूबर के 1,00,710 करोड़ रुपये की तुलना में कम था। जनवरी 2019 का संग्रह जनवरी 2018 के संग्रह 89,825 करोड़ रुपये की तुलना में 14% अधिक है। यह उल्लेखनीय वृद्धि विभिन्न कर छूट लागू होने के बावजूद हासिल की गई है। इन कर छूटों से उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिली है। पिछले तीन महीने की अवधि में सकल जीएसटी संग्रह, पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 14% अधिक रहा है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *