उझानी के श्रीओम प्रकाश शर्मा इंटर कालेज अब्दुल्लागंज में कवि रामचंद्र द्विवेदी ‘प्रदीप‘ के 104 वें जन्मदिवस पर बच्चों को सम्मानित करते प्रधानाचार्य अनिल कुमार शर्मा।

बदायूँ/उझानी: श्री ओम प्रकाश शर्मा इंटर कालेज अब्दुल्लागंज में राष्ट्रीय पर्वों, उत्सवों पर देशवासियों में नया जोश और स्फूर्ति लाने वाले ‘ऐ मेरे वतन के लोगों देशभक्ति गीत के रचयिता कवि रामचंद्र द्विवेदी ‘प्रदीप‘ के 104 वें जन्मदिवस पर स्लोगन प्रतियोगिता हुई। सर्वोच्च स्थान प्राप्त बच्चों को सम्मानित किया गया।
प्रबंधक धर्मेंद्र कुमार शर्मा ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारंभ कराया। उन्होंने कहा कि देशसेवा का गौरव उत्कृष्ट और महान लोगों को ही मिल पाता है। युवाशक्ति अपने लक्ष्य को पाने के लिए संघर्ष करे और चुनौतियों को स्वीकारे। श्रेष्ठ चिंतन मनुष्य की अमूल्य धरोहर है।
गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि कवि रामचंद्र द्विवेदी ‘प्रदीप‘ ने अपनी कलम और स्वर से संपूर्ण देशवासियों के हृदय में एकता और अखंडता की भावनाओं का संचार किया, भारत में स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान देशभक्ति के गीतों की विशेष आहुतियां समर्पित कीं। सरल और लयबद्ध गीत आंदोलनकारियों की शक्ति बनें। देश को समर्पित गीत बच्चों, युवाओं, जवानों और राष्ट्रप्रेमियों के हृदय में देशभक्ति का जज्बा और जाग्रति का शंख बजा रहे हैं।
प्रधानाचार्य अनिल कुमार शर्मा और शिक्षक अजब सिंह यादव ने ओमप्रताप, आर्येंद्र, रीतेश, अर्जुन, अंतेश, रिंकू, अभिषेक, शिवम, विशाल, आकांक्षा, गुंजन, कोमल, गुनगुन, शिल्पी, अदिति, शक्ति, शिवानी, दीक्षा, शिवानी, रुबी आदि बच्चों को गायत्री मंत्र का पटिका और सद्साहित्य देकर सम्मानित किया।
ऐ मेरे वतन के लोगों, जरा आंख में भर लो पानी, जो शहीद हुए हैं उनकी जरा याद करो कुर्बानी दिल्ली लालकिले से गाया गया। दूर हटो ऐ दुनियां वालों हिन्दुस्तान हमारा है, चल-चल रे नौजवान, आओ बच्चों तुम्हें दिखायें झांकी हिन्दुस्तान की इस मिट्टी से तिलक करो ये धरती है बलिदान की वंदे मातरम्, वंदे मातरम्, जय संतोषी मां गीतों से प्रदीप लोकप्रिय बनकर देशवासियों के दिलों में बस गए।
इस मौके पर आनंद सिंह राघव, रवीश शर्मा, शालिनी शर्मा, संदीप कुमार, कुशलकांत, रश्मि, भावना शर्मा, मनोज सक्सेना आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *