कुंवरगांव: कनगांव में पांच कुंडीय गायत्री महायज्ञ के समापन पर भारतीय सैनिकों के सम्मान और आतंकियों को जड़ से उखाड़ फेंकनें को लेकर विशेष आहुतियां यज्ञ भगवान को समर्पित की

कुंवरगांव/बदायूँ: अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में कुंवरगांव के समीपवर्ती गांव कनगांव में तीन दिन से चल रहे पांच कुंडीय गायत्री महायज्ञ का समापन हो गया। ग्रामीणों ने भारतीय सैनिकों के सम्मान और आतंकियों को जड़ से उखाड़ फेंकने को लेकर गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र की विशेष आहुतियां यज्ञ भगवान को समर्पित कीं।
गायत्री शक्तिपीठ बदायंू से आए परिब्राजक सचिनदेव ने कहा कि राष्ट्र की सेवा और सम्मान बढ़ाने का गौरव उत्कृष्ट और महान लोगों को ही मिल पाता है। युवा देश की महाशक्ति बनें।
उसहैत से पहंुचे पंकज कुमार ने कहा कि युवा राष्ट्रनिष्ठा से राष्ट्रधर्म निभाएं। दुनियां को खुशहाली, अमन और शांति का संदेश दें।प्रज्ञा मंडल के भवेश शर्मा ने कहा कि महान परिवर्तन के लिए हम राष्ट्र की आराधना करें, राष्ट्रसेवा में जुटें। चरित्रवान युवा पीढ़ी ही भारत का भविष्य बदलेगी।
मुख्य यजमान पूरनलाल, चेतराम, दिनेश कुमार, प्रभु दयाल और जैनेंद्र कुमार मथुरिया रहे। आत्मीय परिजन प्रेमपाल सिंह, राकेश कुमार, सुषमा देवी, महेंद्र पाल ने मां गायत्री, वेदमूर्ति तपोनिष्ठ पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य, माता भगवती देवी शर्मा का पूजन किया। मातृशक्तियों और देवकन्याओं ने सैकड़ों की संख्या में दीप प्रज्ज्वलित किए। इस मौके पर मधु गुप्ता, ओमकार, थानेदार, रीना, रिचा, पुत्तू लाल, राममोहन, मुकेश, सोनू आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *