बदायूँ: ग्यारह आशा वर्कर्स की सेवाएं समाप्ति के आदेश

बदायूँ : डीएम ने चिकित्सा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए चिकित्साधिकारियों एवं उनके स्टाफ पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। लक्ष्य के सापेक्ष संस्थागत प्रसव न कराने वाली 11 आशा वर्कर्स की सेवाएं समाप्त करने के लिए डीएम ने चिकित्साधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा कि संविदा के आधार पर रखे गए चिकित्सकों का भी स्थानांतरण किया जाएगा। सेवा निवृत्ति के बाद सीएचसी, पीएचसी के आवासों में वर्षां से जमे कर्मचारियों से भी आवास खाली कराए जाएंगे। 
सोमवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में आयोजित जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने स्वास्थ्य सेवाओं की गहन समीक्षा की। उन्होंने पाया कि 43922 संस्थागत प्रसवों के सापेक्ष 36809 प्रसूताओं को ही भुगतान किया गया है। ककराला स्थित सीएचसी में लक्ष्य के सापेक्ष संस्थागत प्रसव कम होने पर डीएम ने एमओआईसी भुवनेश कुमार की कड़ी फटकार लगाते हुए समरेर के एमओआईसी डॉ0 मु0 तहसीन द्वारा शतप्रतिशत प्रसूताओं को भुगतान करने पर प्रसन्नता जताई है। उन्होंने कहा कि सभी पीएचसी एवं सीएचसी पर मानक के अनुसार शत प्रतिशत दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम अन्तर्गत 12510 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कर चिकित्सा ईकाईयों को इलाज हेतु रेफर किया गया था, जिसमें 8100 बच्चों का इलाज किया गया। 4410 बच्चों का अब तक इलाज नहीं हुआ है। स्वास्थ्य विभाग में उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर इलाज हेतु वंचित बच्चों का कोई भी अता-पता नहीं है। डीएम ने शेखूपुर, बिनावर, रसूलपुर, जगत एवं कुवंरगांव की चिकित्सा ईकाईयों की अतिरिक्त स्टाफ नर्स का तत्काल प्रभाव से दूसरे स्थानों पर स्थानान्तरण करने के आदेश दिए हैं। इन अतिरिक्त स्टाफ नर्स द्वारा संस्थागत प्रसव नहीं कराए जा रहे हैं।
इन आशाओं की होंगी सेवाएं समाप्त – संस्थागत प्रसव एवं नसबंदी कार्य की प्रगति शून्य पाए जाने पर जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने बिसौली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अन्तर्गत ग्राम धरैरा की आशा वर्कर साधना, ग्राम भानपुर की राधा, अहरौला की रचना, आलमपुर की प्रीति, सिचौली की नीलम, रम्पुरिया की कृष्णा तथा आसफपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अन्तर्गत मुंसिया नगला के अमलेश, सीकरी की नमिता, सिरसावा की नीतू, संग्रामपुर की रिज़वाना तथा दबतोरी की सुमन देवी की सेवाएं तत्काल प्रभाव से समाप्त करने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी निशा अनंत, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व महेन्द्र सिंह, सीएमओ डॉ0 राजेन्द्र प्रसाद अन्य सम्बंधित अधिकारी एवं एमओआईसी मौजूद रहे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *