बदायूँ: गांवों मे शांति एवं निर्वाचन व्यवस्था हेतु चौपाल का किया जाए आयोजन

बदायूँः  लोक सभा सामान्य निर्वाचन 2019 को शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए देसी, विदेशी एवं अवैध शराब पर विशेष नजर रखी जाए। सरकारी वाहन आने जाने वाले जैसे एंबुलेंस, भारतीय डाक जैसी आदि गाड़ियों का सघन निरीक्षण किया जाए। गांव में शराब बनाने वाली कटरी क्षेत्र के लोगों को विशेष तौर पर रेड मारी की जाए। होली के त्यौहार को दृष्टिगत रखते हुए खुराफाती लोगों को मुचलका पाबंद किया जाए। जुलूस निकलने वाले रास्ते पर मेला लगने वाले स्थान तथा जुमे की नमाज के लिए मस्जिदों के बाहर सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद रहनी चाहिए। एसडीएम सीओ, तहसीलदार एवं थाना प्रभारी गांव गांव जाकर निर्वाचन की जानकारी के संबंध में चौपाल का आयोजन करें। समस्त थानों में शांति व्यवस्था को लेकर पीस कमेटी की बैठक अवश्य कर ली जाए। होली की त्यौहार, मतदान एवं मतगणना के दिन शराब बिक्री पूर्णतया बंद रखी जाए।
गुरुवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में जिला मजिस्ट्रेट दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक आयोजित की गई। उन्होंने समस्त एसडीएम तहसीलदार सीओ थाना प्रभारी को निर्देश दिया कि लोकसभा निर्वाचन एवं होली के त्यौहारों को ध्यान में रखते हुए शांति से संपन्न कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने जिला आबकारी अधिकारी को निर्देश दिए कि शराब की दुकानों का सघन निरीक्षण करें रिकॉर्ड के अनुसार अन्य कहीं तो शराब छुपा के नहीं रखी है। शराब की दुकानों के अलावा भी अन्य संदिग्ध दुकानों को भी छापामार कर चेक किया जाए। चुनाव एवं त्यौहार को ध्यान में रखकर यह सुनिश्चित किया जाए कि अवैध जहरीली शराब अन्य प्रांतों से आने वाली शराब की बिक्री नहीं होनी चाहिए। सीएल2 एफएल 5 जैसी शराब की दुकानों पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए। उन्होंने कहा कि शराब सप्लाई के जो भी लोग नए तरीके अपनाते हैं उनको किसी भी तरह से ऐसा नही करने दिया जाए। बाहर से शहर में आने वाली गाड़ियों की तलाशी ली जाए किसी भी तरह से शराब बाहर से नहीं आनी चाहिए।
जिलाधिकारी ने कड़े निर्देश दिए कि गांव में चौपाल लगाकर लोगों को जागरूक किया जाए कि चुनाव में सभी लोग शत प्रतिशत मतदान अवश्य करें। यह भी बताया जाए कि गांव में शांति व्यवस्था रहनी चाहिए। गांव के लोगों को बताया जाए कि मतदान केंद्र पर मतदान करने के बाद तत्काल अपने घर वापस आए वहां पर भीड़ इकट्ठा करने की कोशिश न करें। उन्होंने कहा कि चौपाल में लोगों से हाथ उठाकर शपथ खिलाई जाएगी सभी लोग शत प्रतिशत मतदान अवश्य करेंगे। चौपाल में गांव के लोगों के शस्त्र भी जमा कराए जाएं और गांव के खुराफाती एवं अशांति फैलाने वाले लोगों को चेतावनी कार्ड भी दिया जाए। त्योहारों में जुलूस निकलने वाले रास्ते, मेला लगने वाले स्थानों को अभी से चिन्हित करके वहां पर एक बैठक करके लोगों को शपथ खिला दी जाएगी किसी प्रकार की कोई भी अशांति नहीं फैलाएंगे। उन्होंने कहा कि जुलूस निकलने वाले स्थानों पर एसडीएम सीओ पैदल चलकर सारी व्यवस्थाएं अभी से देखकर दुरुस्त कर लें। गुंडा एक्ट एवं गैंगेस्टर वाले लोगों को 15 दिनों के अंदर जिला बदर किया जाए। 22 मार्च को जुमे की नमाज़ के समय सुरक्षा व्यवस्था कड़ी रहनी चाहिए।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने समस्त सोओ, थाना प्रभारियों को कड़े निर्देश दिए कि फील्ड में जाकर होली त्यौहार, जुलूस निकलने के स्थानों एवं निर्वाचन की सारी व्यवस्थाएं चाक-चौबंद युद्ध स्तर पर कराएं। किसी भी तरह के शस्त्र जमा या अन्य फर्जी आंकड़े सामने न प्रस्तुत करें अन्यथा कड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहें। उन्होंने कहा कि गांव की चौपाल, पोलिंग बूथ या सार्वजनिक स्थानों पर ही आयोजित की जाए। गांव गांव में जाकर शांति का वातावरण एवं माहौल बनाना है। गांव के लोगों को समझाया जाए कि किसी प्रकार की अशांति फैलाने से गांव के लोगों की ही समस्या उत्पन्न होगी। इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व नरेंद्र बहादुर सिंह, अपर जिलाधिकारी प्रशासन रामनिवास शर्मा, नगर मजिस्ट्रेट कमलेश कुमार अवस्थी एवं एसपी सिटी जितेंद्र कुमार श्रीवास्तव सहित समस्त एसडीएम थाना प्रभारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *