बदायूँ: दुनियां भर में भारत ने निभाई पथ प्रदर्शक और मागदर्शक की भूमिका

बदायूँ:  अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में अम्बियापुर क्षेत्र के ग्राम दबिहारी में ‘‘ वंदेमातरम ‘‘ कार्यक्रम के अंतर्गत भारतीय सैनिकों और महान विभूतियों को नमन वंदन किया। राष्ट्रध्वज फहराने के साथ बच्चों ने देशभक्ति गीत और लघुनाटिकाएं प्रस्तुत कीं। सर्वश्रेष्ठ बच्चों को सम्मानित किया गया।
गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि भारतीय सैनिकों का अदम्य साहस ही समूचे राष्ट्र का रक्षा कवच है। सैनिकों की शूरवीरता, पराक्रम और सुदृढ़ संकल्प शक्ति पर पूरा देश गौरवान्वित है। उन्होंने कहा कि भारत की महान विभूतियों ने सभ्यता, संस्कृति और संस्कारों से संपूर्ण विश्व धरा को जीवनीशक्ति प्रदान की। दुनियां भर में प्राचीन काल से भारत ने पथ प्रदर्शक और मार्गदर्शक भूमिका निभाई है।
रिसौली के चंद्रपाल शर्मा ने कहा कि संघर्ष और चुनौतियां मनुष्य को मूल्यवान बना देती हैं। समाजसेवी युधिष्ठर शर्मा ने कहा कि महान कार्यों से ही जीवन उत्कृष्ट और महान बनता है।
वंदेमातरम कार्यक्रम में बच्चों ने हमारा है यह दृढ़ संकल्प, नया संसार बसाएंगे, नया इंसान बनाएंगे। विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, भारत के लाल, शूरवीरों की धरती पावन के अलावा देशभक्ति लघुनाटिकाओं की शानदार प्रस्तुति दी। विभिन्न प्रतियोगिताओं में सर्वश्रेष्ठ स्थान पाने वाली गुनगुन, लक्ष्मी, पूनम, पानदेवी, संध्या, अंजलि, शिशु और सुमन शर्मा को सम्मानित किया गया। इस मौके पर प्रेमपाल शर्मा, सोमदत्त शर्मा, पुष्पेंद्र शर्मा, विवेक, दीप्ति, मयंक मनु आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *