बदायूँ: आखिर क्यों छिपाई वैवाहिक स्थिति भाजपा प्रत्याशी संघमित्रा ने शपथ पत्र मे ।

बदायूँ: (विशेष रिपोर्ट): चुनाव के चलते भाजपा प्रत्याशी ने विवाहित होने की जानकारी जानबूज कर छिपा ली है जनता के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है लोक सभा चुनाव की घोषणा होने के बाद संघमित्रा बदायूँ लोक सभा क्षेत्र मे आई है । जिन्हें बदायूँ/ सभल की जनता भलि भाॅत नही जानती । दो अप्रेल को संघमित्रा मौर्या ने भाजपा प्रत्याशी के रूप में जब अपना नामांकन पत्र दाखिल किया । तो उसमे विवाहित होने की स्थति पूरी तरह छुपा ली है ।
  संघमित्रा मौर्या  ने अपने सोशल मीडिया के पेज पर भी विवाहित होने की बात छुपाई । और खुद को सिंगल होने की बात कही है । वास्तविक मे डा संघमित्रा मौर्या विवाहिता है ।  सूत्रों के अनुसार एक पुत्र भी है  डा संघमित्रा मौर्या का विवाह नवलकिशोर मौर्या से हुआ है । सपा सरक्षक मुलायम सिंह यादव 2014 मे मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड रहे थे । तब लोकसभा मैनपुरी से संघमित्रा मौर्या ने नामांकन पत्र दाखिल  करते समय शपथ पत्र मे खुद को विवाहित दर्शाया था । और 2019 के लोकसभा चुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करते समय दो अप्रेल को डा संघमित्रा मौर्या ने विवाहित होने के तथ्यो को क्यो छिपाया । इस विषय मे जब भाजपा प्रत्याशी डा संघमित्रा मौर्या से बात की  गयी तो उन्होंने कहा कि जिनकी बजह से मेरी पहचान बनी  है उनका नाम व डिटेल डाली है वो ही काफी है और गुन्नौर क्षेत्र मे जो ब्यान दिया की मै सबसे बडी गुड़ी बन जाऊँगी । उससे सम्बंधित सबाल पूछा गया तो डा संघमित्रा मौर्या चुप्पी साधती नजर आई ।
दूसरी ओर उनके पति नवल किशोर मौर्या से इस संबंध मे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि डा संघमित्रा मौर्या वर्तमान मे उनकी पत्नी है तथ्य छिपाने के पीछे उनकी क्या मंशा है मुझे जानकारी नहीं । देखना और समझना है कि आयोग  तथ्य छिपाने को कितनी गंभीरता से लेता है । आप को बता दें कि डा संघमित्रा मौर्या उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री व प्रभारी बदायूँ के स्वामी प्रसाद मौर्या की बेटी है कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या कद्दाबार नेता के रूप मे जाने जाते है क्योंकि पहले बसपा में अब भाजपा के कद्दाबार नेता के रूप मे पहचाने जाते हैं । राजनीति सूत्रों का कहना कि डा संघमित्रा मौर्या के पति व कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या के दामाद किसी दूसरी राजनीतिक पार्टी से तालुकात रखते हैं । इसलिए उनका नाम छिपाया   गया है ।
जबकि चुनाव के समय नेता अधिकतर  अपराधिक विवरण छुपाने की कोशिश करते हैं । वही बदायूँ मे भाजपा उम्मीदवार संघमित्रा मौर्या ने पति का नाम छुपाया है जो कि जिले भर मे चर्चा का विषय बना हुआ है।
(बदायूँ से ब्यूरो चीफ अवधेश मिश्रा की रिपोर्ट)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *