बदायूँ: 36वीं जनपदीय शैक्षिक बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता व शैक्षिक समारोह का शुभारंभ

बदायूँ :  बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित तीन दिवसीय 36वीं जनपदीय बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता व शैक्षिक समारोह का सोमवार को मुख्य अतिथि अध्यक्ष यूपी सिड़को, दर्जा राज्यमंत्री बीएल वर्मा ने फीता काटकर, कबूतर एवं गुब्बारे उड़ाकर शुभारंभ किया। मुख्य अतिथि ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली।
पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित 36वीं जनपदीय बाल क्रीडा प्रतियोगिता व शैक्षिक समारोह में जनपद के विभिन्न स्कूलों से प्रतिभाग किए स्कूली बच्चों द्वारा विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। गत वर्ष के चौंपियन आलोक ने ट्रैक पर मशाल लेकर दौड़ लगाई। तत्पश्चात मुख्य अतिथि ने 100 मीटर दौड़ को हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया। उन्होंने खेल में आए बच्चों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि प्रतियोगिता निष्पक्ष और बिना भेदभाव की होनी चाहिए। प्रतियोगिता में बच्चों के मान-सम्मान पर विशेष ध्यान दिया जाए। बच्चों को किसी प्रकार की असुविधा न होने पाए। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि खेल प्रतियोगिताओं से प्रतिभाओं में निखार आता है। इससे बच्चों में शैक्षिक, सामाजिक, राजनैतिक, चारित्रिक, भावनात्मक एवं संदेशात्मक गुणों का विकास होता है। विश्व विकलांगता दिवस सामाजिक शिक्षा के बच्चों द्वारा कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाने पर प्रसन्न होकर दो हजार देकर पुरस्कृत किया। उन्होंने कहा कि अब प्राइमरी विद्यालयों के बच्चे कान्वेंट स्कूल के बच्चों से आगे निकल रहे हैं इससे बहुत प्रसन्नता व्यक्त होती है कि ऐसे ही शिक्षक बच्चों को शिक्षा देते रहें।
विशिष्ट अतिथि डीएम ने कहा कि अध्यापक बच्चों को अच्छी शिक्षा देकर उनका तथा देश का भविष्य उज्जवल बनाते है। उन्होंने कहा कि कन्वेंट स्कूलों से आगे  प्राथमिक विद्यालय के बच्चे निकल रहे हैं ऐसे ही शिक्षा का स्तर बढ़ता रहे। सभी अध्यापक मेहनत से बच्चों को पढ़ाकर बदायूं का भविष्य बदलने का कार्य करें। विभिन्न स्कूलों से आए बच्चों को खाने-पीने एवं रहने की किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम तो बहुत प्रस्तुत किए गए लेकिन सामेतिक शिक्षा के बच्चों का कार्यक्रम अति सराहनीय रहा है। उन्होंने कहा कि जब सभी बच्चे शिक्षित होंगे तभी देश का अच्छा भविष्य होगा। इसी कार्यक्रम में स्मारिका जनपदीय शैक्षिक बाल क्रीड़ा प्रतियोगिता समारोह पत्रिका का विमोचन भी किया गया।
कार्यक्रम के अध्यक्ष पूर्व विधायक प्रेम स्वरूप पाठक ने कहा कि शिक्षा की नीव वह प्राथमिक विद्यालयों से ही बनती है जिससे बच्चे भविष्य में बड़े-बड़े उच्च पदों पर जाकर देश की सेवा करते है। जनपद में ऐसी भव्य प्रतियोगिता नहीं देखी। उन्होंने कहा कि खेल से बच्चों में अनुशासन सीखने को मिलता है, और वह आगे बढ़कर देश का नाम रोशन करते हैं। उन्होंने कहा इसीलिए सभी बच्चों को मेहनत से पढ़ाई करनी चाहिए। इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार, जिल सहकारी समिति के चैयरमेन उमेश सिंह राठौर, प्रभात कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी रामपाल सिंह राजपूत तथा प्राथमिक शिक्षा संघ के अध्यक्ष संजीव कुमार शर्मा सहित अध्यापकगण  उपस्थित रहे।
                            —–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *