कोरिया: निर्णय वापस नही लेने पर बैंक में खाता बंद करने के साथ ही आंदोलन करने की दी चेतावनी। (वेदप्रकाश तिवारी की रिपोर्ट)

कोरिया:-चिरिमिरी महापौर के. डोमरु रेड्डी ने स्टेट बैंक आफ इंडिया के चेयरमैन को पत्र लिखकर बैंक की बरतुंगा शाखा को बंद कर उसका विलय कुरासिया कालरी शाखा में करने का कड़ा विरोध करते हुए इसे पूर्ववत् चालू रखने की मांग की है । निर्णय के वापस नही होने पर स्टेट बैंक में अपना खाता बंद करने के साथ ही आंदोलन करने की भी चेतावनी महापौर के डोमरु रेड्डी ने दी है

अपने पत्र में श्री रेड्डी ने कहा है कि बीते 07 नवम्बर को स्टेट बैंक बरतुंगा के शाखा प्रबंधक द्वारा ग्राहकों को एक नोटिस के माध्यम से स्टेट बैंक की इस शाखा को बंद कर इसका विलय कुरासिया शाखा में करने की सूचना दी है । बैंक प्रबंधन का यह निर्णय पूरी तरह से विवादित व ग्राहकों के लिए असुविधा वाला है ।

श्री रेड्डी ने अपने पत्र में कहा है कि बरतुंगा की आबादी लगभग 5 हजार है तथा यहां चिरमिरी नगर निगम के दो वार्ड हैं। यहाँ के निवासी व व्यापारी वर्षो से अपना लेन देन स्टेट बैंक की इसी शाखा से सुगमता पूर्वक कर रहे है। महापौर के. डोमरु रेड्डी ने बैंक के इस निर्णय पर आश्चर्य जताते हुए कहा कि ग्राहकों को बेहतर सुविधा देने का दावा करने वाला भारतीय स्टेट बैंक बिना कोई जनसुनवाई किये व बिना ग्राहकों को कोई जानकारी दिए इतना बड़ा निर्णय कैसे ले लिया ?

महापौर के. डोमरु रेड्डी ने भारतीय स्टेट बैंक आफ इंडिया के चेयरमैन से इस विवादित व ग्राहकों के सुविधा विरोधी निर्णय को वापस लेकर स्टेट बैंक की बरतुंगा शाखा को पूर्ववत चालू रखने की मांग की है । निर्णय वापस नही होने पर उन्होंने अपना खाता बंद करने के साथ ही आंदोलन करने की चेतावनी भी दी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *