बदायूँ: प्रार्थियों की समस्याओं का डीएम ने टीमें भेजकर मौके पर ही कराया निस्तारण।

बदायूँः संपूर्ण समाधान दिवस सदर में मझिया निवासी सुनीता, भगवान देवी, ऊषा एवं नन्ही ने शिकायत की कोटेदार पन्नालाल राशन पर्याप्त मात्रा में नहीं दे रहे हैं। डीएम ने लापरवाही पाए जाने पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए एसडीएम सदर को चेतावनी तथा सप्लाई स्पेक्टर राजेश, जय वीर को प्रतिकूल प्रविष्टि तथा कोटा निलंबन के निर्देश दिए है। लेखपाल मनोज के पास हैसियत प्रमाण पत्र 4 महीने से रखे हुए की शिकायत प्राप्त होने पर निलंबन के निर्देश दिए हैं। लेखपाल सुरजीत कुमार द्वारा कछला में सरकारी जमीन पर पहले कब्जा हटवाया बाद में फिर दबंग ने कब्जा कर लिया और उस पर कोई कार्यवाही न करने पर सस्पेंड करने के निर्देश दिए तथा तत्काल मौके पर अधिकारियों की टीम भेजकर कब्जा मुक्त कराकर दोषी के विरुद्ध  एफ आई आर दर्ज कर जेल भेजने के निर्देश दिए। मौहल्ला महाराज नगर बदायूँ निवासी राम प्रकाश ने चक्की के विद्युत कनेक्शन के लिए चार माह पहले आवेदन किया था, जिसका पैसा वह सरकारी खजाने में जमा कर चुका है, परन्तु अभी तक उसको कनेक्शन नहीं मिला है। डीएम के निर्देश पर जिला कृषि अधिकारी विनोद कुमार, एसडीओ अनिल कुमार ने मौके पर जाकर कनेक्शन कराया और चक्की चलवाकर व शिकायतकर्ता को संतुष्ट करवाकर लौटे। इसके अलावा अन्य शिकायतों को भी डीएम ने प्राथमिकता के तौर पर संज्ञान में लेते हुए मौके पर उनका समाधान कराया।
मंगलवार को तहसील सदर में संपूर्ण समाधान दिवस जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार ने जनता की शिकायतों को सुना। उन्होंने विशेष तौर 13  शिकायतों पर जिला स्तरीय अधिकारियों की टीम गठित कर मौके पर जाकर निस्तारण कराने के लिए भेजा। संपूर्ण समाधान दिवस में कुल 30 शिकायतें प्राप्त हुई जिसमें से 8 शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। डीएम ने सभी अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि प्राप्त शिकायतों को गुणवत्ता पूर्वक समय से निस्तारित कराई जाए। उन्होंने कहा कि पहले की भी प्राप्त शिकायतों को अधिकारी पुनः सत्यापन कर ले बाद में किसी प्रकार की लापरवाही आती है तो पूर्ण जिम्मेदारी निस्तारण कर्ता की होगी। उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति की शिकायत का निस्तारण कर दिया जाए वह दुबारा शिकायत के लिए फिर नहीं आना चाहिए। सभी विवाह के अधिकारियों को निर्देश दिए कि कार्यालयों की रंगाई पुताई फर्नीचर अलमारी आदि की व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं। समस्त अधिकारी एवं कर्मचारी समय से कार्यालय पहुंचे और अभिलेखों का रखरखाव सही ढंग से होना चाहिए। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी सदर पारसनाथ, पीडी डीआरडीए अनिल कुमार, डीआरओ किशोर गुप्ता,एक्स्ट्रा मजिस्ट्रेट अरुण मणि तिवारी एवं तहसीलदार राजेंद्र प्रसाद चौधरी सहित अन्य अधिकारी मौजूद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *