बरेली में बदमाश की गोली मारकर हत्या से सनसनी। (वॉवी वर्मा की रिपोर्ट)

बरेली- जिसके खौफ से पुलिस भी कांपती थी , जो बात-बात पर गोली चला देता था , जिसके ऊपर हत्या , लूट , डकैती , रंगदारी , अवैध खनन , पुलिस पर हमले जैसे 36 मुकदमे दर्ज थे। उसी कुख्यात हिस्ट्रीशीटर बदमाश पाताराम की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पाताराम को एक दो नहीं बल्कि कई गोलिया मारी गई और उसके शरीर को गोलिओ से छलनी कर दिया गया। उसकी हत्या से इलाके में तनाव है।

बरेली के कैंट के बभिया इलाके निवासी पाताराम ने अपराध की दुनिया में महारत हासिल कर रखी थी। पाताराम कुछ समय पहले ही जेल से जमानत पर रिहा हुआ था। पाताराम पर कैंट और कोतवाली समेत कई थानों में 36 मुकदमे दर्ज थे। पाताराम के पास 4 बजे फोन आया था जिसके बाद वो अपनी स्कॉर्पियों से लालफाटक स्थित सद्भावना कालोनी में संजय के घर पहुंचा था। देर शाम करीब 8 बजे पाताराम को संजय के घर पर गोलिओ से भून दिया गया। पाताराम को सीने , सिर, आँख और पेट में करीब 6 गोलिया मारी गई। पुलिस को घटनास्थल से 5 बुलेट बरामद हुई है।

अवैध खनन में हुई हिस्ट्रीशीटर पाताराम की हत्या

एसपी सिटी अभिनंदन सिंह ने बताया की जानकारी मिली है की अवैध खनन को लेकर पाताराम का किसी से विवाद हुआ था। जिसके बाद उसकी हत्या की गई है। उनका कहना है की आरोपिओ की गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन कर दिया गया है। जल्द ही पाताराम के हत्यारो को गिरफ्तार कर लिया जायेगा। आरोप है कि पाताराम पिछले कुछ दिनों पहले ही जेल से छूटकर आया था। जेल से आने के बाद पाताराम अवैध खनन करने लगा। जिसको लेकर पाताराम का दूसरे खनन माफियाओ से विवाद चला आ रहा था। अभी एक सप्ताह पहले भी खनन को लेकर पाताराम का विवाद हुआ था। फिलहाल परिजन भी अवैध खनन के विवाद को लेकर ही हत्या की आशंका जता रहे है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *